Breaking News

शरीर से थकान को मिटाने के लिए बेहद कारगर हैं मटर का सेवन

मटर में कई पोषक तत्वों की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. डायबिटीज, कमजोर हड्डियों और थकान में मटर का सेवन मुफीद है. मटर प्रोटीन और फाइबर का प्राकृतिक स्रोत है. फाइबर पेट साफ रखने में मददगार साबित होता है.  कुछ मामलों में मटर का सेवन कम करना चाहिए. आज हम आपको अपनी इस स्टोरी में बताएंगे कि मटर कब नहीं खानी चाहिए और कब खानी चाहिए.

थकान में मटर कारगर
क्या आप हर समय खुद को थका और उदास महसूस करते हैं? अगर हां, तो ऐसे में आपको अपनी किसी डाइट में मटर को जरूर शामिल करना चाहिए. मटर प्रोटीन हासिल करने का प्राकृति स्रोत होने के साथ शरीर को ऊर्जा देने का भी काम करता है. मटर के इस्तेमाल से आपकी थकान दूर होगी और आप ज्यादा सक्रिय रह सकेंगे.

डायबिटीज रोगियों के लिए
डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के लिए मटर जरूर इस्तेमाल करना चाहिए. दिन के एक भोजन में किसी न किसी रूप में मटर शामिल करना मुफीद साबित होगा. मटर में मौजूद प्रोटीन आपके शरीर में इंसुलिन लेवल को नियंत्रित करने में मदद करता है. इसके अलावा मटर के इस्तेमाल का ये फायदा होगा कि आपके ब्लड में ग्लूकोज का लेवल बढ़ नहीं पाएगा. इससे शुगर लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद मिलती है.

कमजोर हड्डी के लिए
कमजोर हड्डी की शिकायत वाले लोगों को भी नियमित रूप से मटर खाना फायदेमंद रहेगा. दिन में एक बार किसी भी भोजन में मटर को शामिल कर इस्तेमाल कर सकते हैं. मटर में पाया जानेवाला विटामिन के हड्डियों का व्यास सही बनाए रखने और मजबूती देने का काम करता है. शरीर के लिए विटामिन के के महत्व से इंकार नहीं किया जा सकता. उसकी कमी से हड्डियां खोखली और ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या से जूझना पड़ सकता है. ऑस्टियोपोरोसिस हड्डी से जुड़ी एक बीमारी है. ऐसी स्थिति में फ्रैक्चर का खतरा बढ़ जाता है.

पेट के कैंसर को रोके

मटर पेट के कैंसर से सुरक्षा प्रदान कर सकता है. 2009 में मैक्सिको शहर में किए गए एक रिसर्च से पता चला कि मटर और फलिया के रोजाना सेवन से पेट के कैंसर का खतरा 50 फीसद तक कम हो गया.

कब पहुंचता है नुकसान?
अगर आपको पेट फूलने की समस्या से जूझना पड़ता है तो मटर का सेवन कम कर देना चाहिए. पाचन ठीक नहीं होने से मटर का अधिक सेवन गैस बनाने का काम करेगा. कब्ज होने पर भी मटर के इस्तेमाल से बचना चाहिए. एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि मटर उसी वक्त फायदेमंद हो सकता है, जब आपका पेट ठीक हो.

जिन लोगो को दस्त की समस्या है या जो लोग अधिक मात्रा में मटर का सेवन करते है तो उनको इसका सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए. वहीं जो लोग अपना वजन कम करना चाहते है तो उन लोगों को मटर का सेवन नहीं करना चाहिए क्यूंकि मटर में फाइबर अच्छी मात्रा में होता है.

About News Room lko

Check Also

तो इन लोगों को सबसे ज्यादा काटते हैं मच्छर, बदबू और गर्मी हैं मच्छरो को अट्रैक्ट करने की असली वजह

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें बारिश का मौसम चल रहा हैं। इस सीजन ...