Breaking News

फाइबर की कमी से शरीर में होते हैं ये बदलाव…

हमें पौष्टिक आहार से मिलता है फाइबर और यह आपके पाचनतंत्र के लिए काफी जरूरी माना गया है लेकिन जब आहार में गड़बड़ होती है, तो आपको पर्याप्त मात्रा में फाइबर नहीं मिल पाता और इससे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं जैसे मोटापा, हृदय समस्याएं यहां तक कि कैंसर होने का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता है। कई बार हमें पता नहीं चलता कि हमारे आहार में पर्याप्त मात्रा में फाइबर है या नहीं। तो चलिए आज हम आपको उन संकेतों के बारे में बताते हैं आहार जिससे फाइबर की कमी हो गई है-

कब्ज होना
अगर आप सप्ताह में केवल तीन बार या उससे भी कम बार मल त्याग कर रहे हैं और आपको मलत्याग के समय काफी परेशानी होती है। इतना ही नहीं, अगर आपका मल कठोर व सूखा है, तो इसका अर्थ है कि आपको कब्ज है। कब्ज होने का एक प्रमुख कारण आहार में फाइबर की कमी होना भी होता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने आहार में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे सेब, रास्पबेरी, गाजर, ब्रोकोली या होल ग्रेन फूड को शामिल करें। इसके अतिरिक्त पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं और नियमित रूप से व्यायाम करें।

Loading...

वजन का बढ़ना
आपको शायद पता न हो लेकिन वजन बढ़ने की मुख्य वजह आहार में फाइबर का कम होना होता है। दरअसल, जब आप फाइबर युक्त आहार लेते हैं तो यह आपके पेट को लंबे समय तक भरा रखता है क्योंकि इसे पचने में समय लगता है और इससे आप ओवरईटिंग से बच जाते हैं। वहीं दूसरी ओर, अगर आपके आहार में फाइबर की कमी होती है तो आपको हर थोड़ी−थोड़ी देर में भूख लगती हैं और काफी अधिक मात्रा में कैलोरी इनटेक कर लेते हैं इसलिए कोशिश करें कि आप प्रतिदिन कम से कम 25 से 35 ग्राम फाइबर का सेवन जरूर करें।

ब्लड शुगर का घटना-बढ़ना
अगर आपको मधुमेह है तो आहार में फाइबर की कमी होने पर आपके लिए रक्त शर्करा को नियंत्रित करना काफी मुश्किल हो जाता है। दरअसल फाइबर चीनी के अवशोषण में देरी करता है, जिससे आपको रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। ऐसे में फाइबर की कमी आपके लिए काफी परेशानी खड़ी कर सकती है।

Loading...

About Jyoti Singh

Check Also

जानिए हरी मिर्च खाने के ये 8 सेहतमंद फायदे

हरी मिर्च स्वाद के साथ ही सेहत के लिए भी गुणों का खजाना है। अगर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *