Breaking News

सुप्रीम कोर्ट से वापस ली गई उद्धव के समय की याचिका

एकनाथ शिंदे सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती न देने का फैसला किया है। उद्धव ठाकरे के सीएम रहते दर्ज किए गए दोनों मामलों में बांबे हाईकोर्ट ने स्टे लगा दिया था। उसके बाद से मुंबई पुलिस इन दोनों की जांच नहीं कर पा रही थी।

उद्धव ठाकरे के समय में तत्कालीन सरकार ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी। लेकिन एकनाथ शिंदे की सरकार ने #याचिका को वापस लेने का फैसला किया है।

सुप्रीम कोर्ट चीफ जस्टिस डीवाई टंद्रचूड़ और जस्टिस हिमा कोहली की बेंच को इस मामले की सुनवाई करनी थी। लेकिन राज्य सरकार की तरफ से पेश वकील ने बेंच को बताया कि उन्हें निर्देश मिला है कि याचिका को वापस ले लिया जाए। चीफ जस्टिस की बेंच ने सहमति दे दी।

अर्नब के खिलाफ पालघर मामले को सांप्रदायिक बनाने के मामले में एक केस दर्ज किय़ा गय़ा था। जबकि दूसरा मामला बांद्रा रेलवे स्टेशन के सामने #लॉकडाउन के दौरान लोगों की भीड़ जमा करने को लेकर था। दोनों मामलों में अर्नब गोस्वामी ने तीखी कवरेज की थी। रिपब्लिक टीवी पर इसे लेकर काफी खबरें चलाई गई थीं।

पुलिस ने केस दर्ज किया तो अर्नब ने हाईकोर्ट का रुख किया। जहां से पुलिस को मामले की विवेचना करने से रोक दिया गया। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि अर्नब गोस्वामी ने टीवी डिबेट ये खबरों के जरिये राष्ट्रीय अखंडता को ठेस पहुंचाने की कोशिश की।

About News desk

Check Also

प्रधानमंत्री मोदी ने बंगाल को दी 15 हजार करोड़ की सौगात, बोले- राज्य को विकसित बनाने में जुटे हैं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को पश्चिम बंगाल में 15,000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का ...