Breaking News

गरीबों की जमीन के कब्जेदारों पर चल रहा है योगी सरकार का बुलडोजर : डॉ. दिनेश शर्मा

  • दंगों के दोषी आज बन गए हैं विपक्ष के प्रत्याशी

  • 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का वायदा भी बनेगा केवल लाली पाप

लखनऊ/नाॅयडा। उत्तर प्रदेश  के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि विकासवाद का स्वाद चखने के बाद जनता स्वतः भाजपा की ओर मुड़ गई है। वह परिवारवाद, अपराधवाद, सम्प्रदायवाद एवं क्षेत्रवाद से ऊब चुकी है।

उन्होंने कहा कि कैराना, सहारनपुर एवं मुजफ्फरनगर दंगों के दोषी आज मुख्य विपक्षी दलों के प्रत्याशी बन गए हैं। वे विपक्ष के सहयोगी के रूप में सामने आए हैं और उनकी बी टीम हैदराबाद से आई है। पूर्व में सपा, बसपा और कांग्रेस अल्पसंख्यक बंधुओं में उन्माद पैदा करते थे तथा जाति और धर्म के आधार पर ध्रुवीकरण कराकर वोट लेते थे। आज वह काम उनकी बी टीम एमआईएम कर रही है। उन्होंने कहा कि असल में सपा, बसपा, कांग्रेस और  एमआईएम एक ही थैले के चट्टे बट्टै हैं और ये भाजपा के वोट काटने के लिए प्रत्याशी मिलकर खड़ा करते हैं। इनसे सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लोगों के बीच में जातिवाद का रोग न लगने पाए और  सम्प्रदायवाद का ध्रुवीकरण न होने पाए जिससे उत्तर प्रदेश को फिर से अपराध के शिकंजे में आने से रोका जा सके।

विपक्ष ने अपराधियों अथवा उनके परिवार के लोगों को प्रत्याशी बना दिया है। कुछ स्थानों पर ये अपराधी तत्व विरोधियों के संपर्क में सामने आ रहे है। यह प्रदेश अब बदल चुका है तथा ऐसे तत्वों का अब कोई प्रदेश में स्थान नही है क्योंकि यहां केवल विकासवाद ही चलेगा। उप मुख्यमंत्री ने दावा किया कि सपा, बसपा और कांग्रेस अपना पिछले चुनाव का प्रदर्शन भी नही दुहरा पाएंगे तथा इन्हें पिछले चुनाव मे जितनी सीटें मिली थीं उससे कम सीट मिलेंगी। उनका यह भी दावा था कि विपक्ष के सभी विधायक मिलकर तीन अंकों तक नही पहुंच सकेंगे।

शर्मा ने विपक्षी अल्पसंख्यक घ्रुवीकरण की कोशिशों को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया।उन्होंने कहा कि विपक्ष में सफल नहीं होगा आज भी भाजपा के मुकाबले में कोई दल नही है और विपक्ष भाजपा का नाम सिर्फ चर्चा में  बने रहने के लिए लेता है। उन्होंने कहा कि कुछ ऐसी भी सरकारे थी जब मुजफ्फरनगर जल रहा था तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश भी सिहर रहा था तब लखनऊ में क्रिकेट प्रतियोगिता आयोजित की जा रही थी। वे ऐसी सरकारें थी जिनका जनता के दुख सुख से लेना देना नही था। दूसरी ओर प्रदेश में ऐसी सरकार है जिसके मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रियों, विधायकों एवं भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कोरोना जैसे गंभीर संक्रमणकाल में जान की परवाह किये बिना जनता की बढ़चढकर मदद की। जनसेवा की इस प्रक्रिया मे मे भाजपा के सैकड़ो कार्यकर्ताओं को जान से हाथ धोना पड़ा। सेवा की इस होड़ में मंत्री और विधायक तक दिवंगत हुए। मुख्यमंत्री तो जनसेवा में इस कदर समर्पित हुए कि वे अपने पिता के निधन के बाद उनके अंतिम दर्शन के लिए भी नही जा सके।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जब सत्ता संभाली थी उस समय स्वास्थ्य सेवाओं का इतना बुरा हाल था कि गिने चुने अस्पतालों में वेंटिलेटर और अक्सीजन बेड की सुविधा उपलब्ध थी आज प्रदेश के हर सरकारी अस्पताल व मेडिकल कालेज में बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार और पिछली सरकारों के बीच यही बुनियादी अन्तर है। उनके लिए माफिया अपना या पराया होता था किंतु भाजपा के लिए माफिया सिर्फ माफिया ही है। अब समय आ गया है कि पलायन करानेवालों का पलायन हो जाना चाहिए। गरीबों की जमीन व मकानों पर अवैध कब्जा करनेवालों पर योगी सरकार का बुलडोजर चल रहा है और उन कब्जाई जमीनों पर गरीबों के मकान बन रहे हैं।

नाॅयडा में प्रभावी मतदाता संवाद में बोलते हुए उप मुख्यमंत्री ने कहा कि 2012 के चुनाव में विपक्षी दलों ने मकान देने के नाम पर जनता से 27 लाख फार्म भरवाए थे पर सत्ता में आने के बाद हजारों में भी मकान नही दे पाए। इसके बाद जब डबल इंजन की भाजपा की सरकार यूपी में आई तो उसने गरीबों को 43 लाख मकान बनवाकर दिए।अब एक बार फिर जनता की आंख में धूल झोंककर  बिजली मु्फ्त देने के लिए फार्म भरवा रहे है। उन्होंने प्रश्न किया कि जो मकान नही बनवा पाए वे बिजली मुफ्त क्या दे पाएंगे। उनका कहना था कि विपक्षी दलों के नेता ऐसे वायदेआजम है जो वायदा करके फिर मुकर जाते हैं। उनका कहना था कि पुरानी पेंशन को लागू करने के वायदे का भी कुछ इसी प्रकार का हश्र होगा।

उप मुख्यमंत्री  ने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेता जिस पेंशन को लाने की बात कर रहे हैं वह 2005 में मुलायम सिंह यादव के मुख्यमंत्रित्व काल में शुरू हुई थी तथा इस पेंशन को लागू करनेवाली सरकार ने पेंशन का अंशदान तक जमा नही किया और तब उनकों इस योजना में कोई कमी नजर नही आई थी। भाजपा सरकार ने सत्ता में आने के बाद उस समय का न केवल अंशदान जमा करवाया बल्कि सरकारी अंशदान को दस प्रतिशत से बढ़ाकर 14 प्रतिशत कर दिया। भाजपा सरकार नई पेंशन योजना में लगातार सुधार कर रही र्है। उनका कहना था कि समाजवादी पार्टी को जनता को यह भी बताना चाहिए     कि वे जनता को पुरानी पेंशन देने के वायदे को कैसे पूरा करेगे।

उप मुख्यमंत्री शर्मा ने कहा कि काशी में बाबा का भव्य काॅरीडोर बनकर तैयार हो गया है तथा अयोध्या, चित्रकूट, मथुरा, विन्घ्यवासिनी धाम का अलौकिक स्वरूप सामने आ रहा है। एक समय ऐसा भी था जब कि बम बम भोले कहनेवाले कांवरियों पर अराजक तत्वों द्वारा पत्थर बरसते थे और शिकायत करने पर उन्ही के खिलाफ मुकदमें दायर किये जाते थे आज कांवड़ यात्रा पर पत्थर की जगह फूल  बरसाए जाते हैं।
उन्होंने कहा कि भाजपा का लक्ष्य सबका साथ सबका विकास है तथा सरकार की सभी योजनाओं का लाभ जनता तक पहुंचना सुनिश्चित करना है और इसके लिए लोग मोदी और योगी सरकार को साधुवाद दे रहे हैं। आज अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भी मोदी योगी सरकार की योजनाओं और कार्यप्रणाली से सहमत हैं। सरकार  ने पिछले पांच साल में तुष्टीकरण किसी का भी नही और विकास सभी का करना सुनिश्चित किया है। शिक्षा के क्षेत्र में भी क्रान्तिकारी  सुधार किये गए हैं।  250 माध्यमिक विद्यालय, 78 डिग्री कालेेज और 12 विश्वविद्यालय बनाए हैं। करीब डेढ़ लाख शिक्षकों की भर्ती हुई है।

चुनाव को लोकतंत्र का यज्ञ बताते हुए उन्होंने कहा इस यज्ञ में भाजपा के लिए आहुति देने की जरूरत है। उनका कहना था कि चुनाव प्रचार आदर्श आचार संहिता का पालन करते हुए किया जाय जिससे वह विपक्ष के सामने एक आदर्श बन जाय। जनपद गौतमबुद्ध नगर दादरी विधानसभा सेक्टर अल्फा में मतदाताओं को भाजपा विधायक प्रत्याशी तेजपाल नागर के पक्ष मतदान में करने हेतु घर घर जाकर उत्प्रेरित किया, साथ में सदस्य विधान परिषद श्रीषचंद शर्मा एव जिला अध्यक्ष विजय भाटी उपस्थित थे।

About Samar Saleel

Check Also

काशी विद्यापीठ में लगातार हो रहे अनियमितता एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ छात्रों ने खोला मोर्चा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रेस वार्ता के दौरान, छात्रों ने नेताओं को ...