दिवाली पर तीन लाख दीये जलाकर बनाया जायेगा विश्व रिकॉर्ड

लखनऊ। इस बार अयोध्या की दीवाली तीन दिन तक मनाई जाएगी, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। यह कार्यक्रम 4 नवंबर से 6 नवंबर तक मानया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कार्यक्रम में 6 नवंबर को शामिल होंगे। वहीं 3 लाख दीये जलाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल होने की भी योजना है। इस दौरान कोरिया के मंत्री और मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ यहां बने कोरिया की रानी सूरी रत्ना के स्मारक का शिलान्यास भी करेंगे।

दिवाली फेस्टिवल में कोरियाई फेस्टिवल ‘किम हे’

17 सितम्बर को लखनऊ में आयोजित कोरियन कारवां कार्यक्रम में साउथ कोरिया के रिपब्लिक अम्बैसेडर शिन बोकलिंग ने यह बात बताई। साथ ही बताया कि अयोध्या के दिवाली फेस्टिवल में इस बार कोरियाई फेस्टिवल ‘किम हे’ की झलक भी देखने को मिलेगी।अयोध्या की दीवाली इस बार कई मायनों में खास होगी। देश और विदेश से हजारों की संख्या में पर्यटकों का आगमन होगा। ऐसे में नए तरीकों का इस्तेमाल कर राम की नगरी में दीवाली कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। राम की पैडी में वॉटर शो और सरयू घाट पर लेजर शो का आयोजन होगा। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम संस्कृति विभाग और दीपोत्सव अवध विश्व विद्यालय द्वारा आयोजित किया जाएगा। महोत्सव में मुख्यमंत्री के अलावा राज्यपाल राम नाईक व कई देशों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।

कोरिया की रानी सूरी रत्ना

6 नवंबर को सरयू के पैडी पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में तीन मंच बनाए जाएंगे। एक मंच पर मुख्यमंत्री समेत राज्य सरकारों की मौजूदगी होगी। दूसरे मंच पर संत होंगे और तीसरे मंच पर भगवान राम, सीता और लक्ष्मण जी को बैठाया जाएगा। इस दौरान कोरिया की रानी सूरी रत्ना के मेमोरियल का भी शिलान्यास किया जाएगा। कोरिया की राजकुमारी का राम की नगरी अयोध्या से कनेक्शन है। वे अयोध्या से दक्षिण कोरिया के ग्योंगसांग प्रांत में बने किमहये शहर आ गयी थी। उन दिनों कोरिया में ‘काया’ राजवंश का शासन था और किम सुरो वहां का राजा था, जिससे राजकुमारी हो को प्रेम हो गया और दोनों वैवाहिक बंधन में बंध गए थे।

अतुल मोहन
अतुल मोहन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *