Manmohan Singh : जब एक अर्थशास्त्री बना देश का प्रधानमंत्री !

आज पूरा देश भारत के आर्थिक सुधारों को लेकर याद किये जाने वाले देश के चौदहवें प्रधान मंत्री डॉक्टर Manmohan Singh मनमोहन सिंह का 86वां जन्मदिवस मना रहा है। ऐसे में आइये जानते हैं पूर्व पीएम से जुडी कुछ बातें।

Manmohan Singh : अर्थशास्त्र में ऑनर्स कर ऑक्सफोर्ड से..

26 सितंबर, 1932 में जन्मे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री का जन्म पंजाब प्रांत के गाह गांव में हुआ था। मनमोहन सिंह की पत्नी का नाम गुरशरण कौर है व इनकी तीन बेटियां हैं। भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट आर्काइवपीएमआे डाॅट एनआर्इसी डाॅट इन के मुताबिक मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय से अपनी मैट्रिकुलेशन परीक्षा उत्तीर्ण की। इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज ब्रिटेन से 1957 में अर्थशास्त्र में ऑनर्स आैर 1962 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के नफील्ड कॉलेज से अर्थशास्त्र में डी फिल पूरा किया।

वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के नफील्ड कॉलेज से पढ़ाई करने के बाद डाॅक्टर मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय तथा उसके बाद दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स के संकाय में अध्यापन का कार्य किया। इसके अलावा इन्होंने यूएनसीटीएडी सेक्रेटेरिएट में भी कुछ समय के लिए जिम्मेदारियां संभाली थीं।

मनमोहन सिंह को 1971 में भारत सरकार में वाणिज्य मंत्रालय में आर्थिक सलाहकार आैर 1972 में वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार नियुक्त किया गया। जिस दौरान उन्होंने आर्थिक सुधारों को लेकर कई महत्वपूर्ण कार्य किये।

  • मनमोहन सिंह को 1987 और 1990 के बीच जिनेवा में साउथ कमीशन के महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया।
  • इसके अलावा इन्होंने वित्त मंत्रालय में सचिव, योजना आयोग के उपाध्यक्ष, भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर, प्रधान मंत्री के सलाहकार और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष के पदों पर भी जिम्मेदारी बखूबी निभाई।
  • मनमोहन ने 1991 से 1996 के बीच वित्त मंत्री के रूप में आर्थिक सुधारों की व्यापक नीति को आगे बढ़ाया।
  • वे 1991 से भारतीय संसद के उच्च सदन के सदस्य रहे हैं तथा 1998 और 2004 के बीच विपक्ष के नेता रहे।

मनमोहन सिंह ने 22 मई, 2004 को पहली बार आैर 22 मई, 2009 को दूसरी बार प्रधान मंत्री पद की शपथ ग्रहण की।

कई सम्मानों से नवाजा गया

भारत के चौदहवें प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 1987 में पद्म विभूषण, 1995 में जवाहरलाल नेहरू बर्थ सेंटेनरी अवार्ड ऑफ दि इंडियन साइंस कांग्रेस, 1993 में सर्वश्रेष्ठ वित्त मंत्री के लिए एशिया मनी अवॉर्ड, 1993 में सर्वश्रेष्ठ वित्त मंत्री के लिए यूरो मनी अवॉर्ड, 1956 में कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी का एडम स्मिथ पुरस्कार, 1955 में कैम्ब्रिज में सेंट जॉन्स कॉलेज में विशिष्ट कार्य-निष्पादन हेतु राइट्स प्राइज जैसे आैर भी कर्इ बड़े पुरस्कारों और सम्मानों से नवाजे जा चुके हैं।

One thought on “Manmohan Singh : जब एक अर्थशास्त्री बना देश का प्रधानमंत्री !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *