Breaking News

बढ़ते वजन को कम कहना चाहते हैं तो रोज खायें गुड़ 

जब भी आप आईने में देखते हैं और अपना बढ़ा हुआ वजन देखकर निराश होते हैं या फिर आप डाइटिंग या स्लीमिंग पिल्स लेने के बाद भी आपका वजन कम नहीं हो रहा तो अब आपको निराश होने की जरूरत नहीं है। आपकी किचन में मौजूद गुड़ बेहद स्वादिष्ट तरह से आपका वजन घटाने की क्षमता रखता है। अगर आप भी अपने बढ़ते वजन को अलविदा कहना चाहते हैं तो गुड़ को डाइट का हिस्सा बनाएं। तो चलिए जानते हैं कि गुड़ से कैसे घटा सकते हैं वजन−

रोकें वाटर रिटेंशन
गुड़ में पोटेशियम व अन्य कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं तो शरीर में वाटर रिटेंशन को नियंत्रित करने में मदद करता है। कई बार शरीर में वाटर रिटेंशन भी बढ़े हुए वजन की एक मुख्य वजह होता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप नियमित रूप से गुड़ का सेवन करें।
 
बेहतर मेटाबॉलिज्म
कुछ लोगों की शिकायत होती है कि वह हेल्दी फूड खाते हैं और एक्सरसाइज करते हैं, लेकिन फिर भी उनका वजन कम नहीं होता। इसकी मुख्य वजह होती है कि उनका कमजोर मेटाबॉलिज्म। जब व्यक्ति का मेटाबॉलिज्म स्लो होता है तो उससे भोजन का पाचन सही तरह से नहीं होता और आहार ऊर्जा के परिवर्तित होने की बजाय फैट के रूप में स्टोर हो जाता है। ऐसे में अगर आप अपने मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाना चाहते हैं तो चीनी को गुड़ से स्विच करें। दरअसल, गुड़ में उच्च मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो न सिर्फ वजन घटाते हैं, बल्कि यह पोषक तत्व इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने और चयापचय में सुधार करने में मदद करते हैं। इस प्रकार वजन कम करने में गुड़ बेहद लाभदायक है।
इसका रखें ध्यान
यह सच है कि गुड़ वजन कम करने में सहायक है, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप प्रतिदिन कितनी मात्रा में गुड़ का सेवन कर रहे हैं। आवश्यकता से अधिक गुड़ का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। अगर आप अधिक गुड़ का सेवन करते हैं तो इससे वजन कम होने की बजाय, वजन बढ़ा सकता है। एक व्यक्ति के लिए प्रतिदिन दो चम्मच गुड़ का सेवन पर्याप्त है। वहीं, मधुमेह के रोगियों को गुड़ खाने से परहेज करने की सलाह दी जाती है। इसमें चीनी की मात्रा होती है जो उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है।

About Jyoti Singh

Check Also

दिल्ली के पुरुष रहें सावधान, बढ़ रहा है इस कैंसर का खतरा…

भारत में प्रोस्टेट समस्याओं का प्रसार तेजी से बढ़ रहा है. दिल्ली कैंसर रजिस्ट्री के मुताबिक, ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *