विधान परिषद : अटलजी को दी गई श्रद्धांजलि,अखिलेश ने स्थगित किया कार्यक्रम

लखनऊ। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के चलते विधानसभा के विधानपरिषद में भाजपा और कांग्रेस सहित कई एमएलसी नेताओं ने पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी। इसके लिए विधान परिषद सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखा गया। यूपी से खास नाता रखने वाले अटल जी के निधन पर सीएम योगी ने बृहस्पतिवार को ही 7 दिनों का राजकीय शोक और शुक्रवार को राजकीय अवकाश घोषित किया गया है।

विधान परिषद सदस्यों की मौजूदगी

यूपी के विधानसभा में राजनीति के पुरुधा और एक आदर्श राजनीति के उदाहरण रहे अटल जी को श्रद्धांजलि दी गयी। पूर्व पीएम के निधन पर विधानपरिषद सदस्यों की मौजूदगी में शुक्रवार को शोक प्रस्ताव रखा गया। इस मौके पर विधानपरिषद के सदस्यों ने 2 मिनट का मौन भी रखा। समन्वय समिति की तरफ से कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने सदस्यों के बीच शोक प्रस्ताव रखा। सभी ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की और परिजनों को दुख सहने की कामना की। इस मौके पर कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह, भाजपा एमएलसी विजय बहादुर पाठक और सपा एमएलसी शतरुद्र सिंह समेत कई विधान परिषद सदस्य मौजूद रहे।

सपा का धरना प्रदर्शन स्थगित

सपा 20 अगस्त को जनसमस्याओं को लेकर यूपी में भाजपा सरकार के खिलाफ तहसील स्तर पर धरना प्रदर्शन करने वाली थी, लेकिन लखनऊ में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कहा है कि अटलजी के निधन के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने सभी धरना प्रदर्शन स्थगित करने के निर्देश दिए हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने विवाह की तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा “स्व. अटल जी ने राजनीति को दलगत राजनीति से ऊपर उठाया, सदैव अपने दल के सिद्धांतों व अपने दर्शन पर अडिग रहना सिखाया, जब भी राजनीति भटकी उसको सही मार्ग दिखाया, विदेशों से मित्रता का पाठ पढ़ाया. अटल जी का जाना भारतीय राजनीति एवं साहित्यिक जगत के मुखरित स्वर का मौन हो जाना है. मौन नमन!”

देश के बाजार बंद

पूर्व पीएम के निधन पर यूपी आदर्श व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने लखनऊ सहित प्रदेश के बाजार बंद रखने का आह्वान किया। लखनऊ के प्रमुख बाजार जैसे हजरतगंज, भूतनाथ, अमीनाबाद, चौक में इसका असर साफ देखने को मिला है।

अटल बिहारी वाजपेयी की तुलना श्रीदेवी से की!

रामपुर। भारत रत्‍न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद पूरा देश ही उन्‍हें श्रद्धांजलि दे रहा है। देश में आम के साथ ही खास भी उन्‍हें अपनी तरह श्रद्धांजलि दे रहा है। दिल्‍ली में तो शुक्रवार को उनके अंतिम दर्शन के लिए दीनदयाल उपाध्‍याय मार्ग स्थित मुख्‍यालय के बाहर लाखों लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। लोग नारे लगाकर उनको अंतिम विदाई दे रहे थे।

दो मिनट का मौन

शुक्रवार को सपा के दिग्‍गज नेता और पूर्व मंत्री आजम खान ने पार्टी कार्यालय पर सपा कार्यकर्ताओं के साथ दो मिनट का मौन रखा। शु्क्रवार को अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय पर जुटे। वहा उन्‍होंने अटल बिहारी वाजपेयी की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा।

नुकसान की भरपाई

पार्टी कार्यालय में आयोजित इस शोक सभा में आजम खान ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद देश को जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई कभी नहीं होगी। इस दौरान आजम खान ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि जिस तरह से अंतिम विदाई होनी चाहिए थी, उस तरह से उनकी अंतिम विदाई नहीं हुई। एक फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की अंतिम विदाई जिस तरह से हुई, उससे भी बेहतर उनकी विदाई होनी चाहिए थी। लेकिन दुर्भाग्य देखिए कि फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी की तरह भी उनको विदा नहीं किया गया।

न हिंदू थे न मुसलमान

शोक सभा के दौरान आजम खान ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी न तो हिंदू थे और न ही मुसलमान थे। वह एक अच्‍छे इंसान थे। पूर्व मंत्री ने कहा कि उन्‍होंने अपनी सत्‍ता में रहते हुए किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया था। उनकी तरह कोई अगर एक आदमी बता दो तो वह सियासत छोड़ देंगे।

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली सरकार का 10वीं-12वीं के छात्रों तोहफा- नहीं देनी होगी बोर्ड परीक्षा की फीस

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं और 12वीं बोर्ड की फीस बढ़ाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *