Breaking News

पुलिस के सामने आफताब ने खोले बड़े राज, कहा श्रद्धा की लाश घसीट कर ले गया…

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) आज (17 नवंबर) श्रद्धा मर्डर केस (Shraddha Murder Case) के आरोपी #आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawalla) को दिल्ली के साकेत कोर्ट में पेश करेगी और आफताब की रिमांड बढ़ाने की मांग करेगी. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट (Narco Test) कराने की तैयारी में है, लेकिन दिल्ली पुलिस को नार्को टेस्ट कराने की नौबत क्यों आई?

शुरुआती जांच में श्रद्धा के मर्डर की गुत्थी जितनी आसान लग रही थी वो उतनी ही उलझती दिखाई दे रही है. पुलिस की सबसे बड़ी परेशानी ये है कि अब तक आफताब के बताए जगह से श्रद्धा का सिर नहीं मिला है. महरौली के जंगल से पुलिस को करीब 13 हड्डियां बरामद हुई हैं, जिन्हें फॉरेंसिक लैब में भेजा गया है और इसकी जांच की जा रही है. इसके बाद इन हड्डियों के डीएनए का मिलान श्रद्धा के पिता के डीएनए से करवाया जाएगा.

इन तमाम चुनौतियों से भी एक और बड़ी चुनौती दिल्ली पुलिस के सामने ये भी है कि आफताब की निशानदेही पर #मर्डर में इस्तेमाल हथियार, श्रद्धा का फोन, वारदात के वक्त पहने गए कपड़े और कई अन्य कई चीजें भी बरामद करनी है.

जिसके लिए आफताब की रिमांड की जरूरत है. लिहाजा श्रद्धा मर्डर केस के लिए आज का दिन काफी अहम साबित होगा. श्रद्धा हत्याकांड में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की अब तक कि इन्वेस्टिगेशन रिपोर्ट  के पास है, जिससे पता चला है कि दिल्ली पुलिस ने आफताब से अब तक क्या-क्या सवाल किए और उसने क्या जवाब दिया.

पहला सवाल- पुलिस- मर्डर कब और कैसे किया ?
आफताब- 18 मई की रात श्रद्धा से झगडा हुआ. झगड़े पहले भी होते थे. मगर उस रोज बात बढ गई. हम दोनों में हाथापाई हुई. मैंने #श्रद्धा को पटक दिया. उसके सीने पर बैठ कर गला दबाने लगा. थोड़ी देर बाद उसने दम तोड़ दिया.

दूसरा सवाल- पुलिस- बॉडी के साथ क्या किया?
आफताब- श्रद्धा की लाश घसीट कर बाथरूम ले गया. पूरी रात लाश बाथरूम में पड़ी रही.

तीसरा सवाल- पुलिस- बॉडी के टुकड़े कब और कैसे किए?
आफताब- 19 मई को मैं बाजार गया. लोकल मार्केट से 300 लीटर का फ्रिज खरीदा. कीर्ति इलेक्ट्रॉनिक शॉप से फ्रिज लिया. दूसरे दुकान से आरी खरीदी. रात को उसी बाथरूम में आरी से लाश के टुकड़े किए. मैंने कुछ दिन शेफ की नौकरी भी की थी. उस दौरान चिकन-मटन के पीस करने की टेनिंग भी ली थी. 19 मई को मैंने लाश के कुछ टुकड़े किए थे. उन्हें पॉलीथिन में डालकर फ्रिज के फ्रीजर में रख दिया. बाकी शव फ्रिज के निचले हिस्से में रखा.

पुलिस- कितने दिनों तक बॉडी के टुकडे किए?
आफताब- दो दिनों तक, 19 और 20 मई को.

पांचवां सवाल- 

पुलिस- बॉडी के टुकड़ों को ठिकाने लगाना कब शुरू किया?
आफताब- 19 और 20 की रात पहली बार कुछ टुकड़े फ्रीजर से निकाल कर बैग में रखे थे.पहली रात बैग में कम टुकड़े रखे थे, क्योंकि लाश के टुकड़ों के साथ देर रात बाहर निकलने में घबरा रहा था. कहीं रास्ते में पुलिस तलाशी न ले लें.

दरअसल, आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawalla) दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के साथ लगातार माइंड गेम खेल रहा है और अपने जवाबों से मामले को उलझाने की कोशिश कर रहा है. आफताब हत्या में इस्तेमाल हथियार के बारे में सही जवाब नहीं दे रहा है. श्रद्धा का मोबाइल फोन कहां है? इस सवाल का जवाब भी आफताब ने अब तक नहीं दिया है. लिहाजा पुलिस नार्को टेस्ट की मदद से इस गुत्थी को सुलझाने की कोशिश कर रही है.

About News Room lko

Check Also

दूसरे और अंतिम चरण की वोटिंग आज , पीएम मोदी-अमित शाह भी डालेंगे वोट

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें इस चरण में राज्य की 14 जिलों की ...