कोरोना वायरस

कवि "चेतन" नितिन खरे

कोरोना वायरस

सर्दी खांसी दर्द कफ, तन में तेज बुखार ।
होवें लक्षण साथ जो, फौरन लो उपचार ।।१।।

हांथों को करते रहो, साबुन से तुम साफ ।
सिर्फ सफाई से गिरे, कोरोना का ग्राफ ।।२।।

मिले न सेनेटाइजर, होना नहीं उदास ।
नींबू पानी घोल के, रख लो अपने पास ।।३।।

रगडों खूब हथेलियां, साबुन पानी डाल ।
नाखूनों को काटकर, खुद का रखो खयाल ।।४।।

सच्चाई को देखकर, मत होना तुम तंग ।
हम सब मिलकर लड़ेंगें, कोरोना से जंग ।।५।।

कोरोना उनके कभी, फटकेगा न पास ।।
दूरी रखें समूह से, खुद पे दृढ़ विश्वास ।।६।।

बेंच रहे जो ब्लैक में, सेनेटाइजर मास्क ।
उनकी करो शिकायतें, मानवता हित टास्क ।।७।।

Loading...

हांथ जोड़कर कीजिए, अभिवादन सम्मान ।
हांथ मिलाना छोड़कर, सबका रक्खो ध्यान ।।८।।

कोरोना से लड़ रही, ज्यों भारत सरकार ।
इससे बचने के लिए, खुद भी हों तैयार ।।९।।

हम सबका कर्तव्य है, रक्खें सुखी समाज ।
कोरोना की जांच में, भला कौन सी लाज ।।१०।।

बीमारी गंभीर है, समझो गहरा मर्म ।
जांच कराने में नहीं, कहीं कोई भी शर्म ।।११।।

अइसोलेशन कक्ष हैं, सब सुविधा सम्पन्न ।
अफवाहों में मत पड़ो, मन को रखो प्रसन्न ।।१२।।

रोज विटामिन सी रहे, भोजन में भरपूर ।
खट्टे फल सेवन रखें, कोरोना को दूर ।।१३।।

“चेतन” नितिन खरे

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मौन का संगीत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मौन का संगीत अब किसी के दिल में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *