Breaking News

भाजपा नेता की राइस मिल में विद्युत विभाग की टीम ने पकड़ी एक करोड़ सोलह लाख की चोरी

  • अभिषेक राइस मिल के खिलाफ मामला दर्ज
  • बिजली चोरी पकड़ने गई टीम को बंधक बनाने का आरोप

रायबरेली। बिजली चोरी रोकने को लेकर बिजली चेकिंग करने गई विद्युत विभाग की टीम को ही एक नेता के बंधक बनाने का आरोप सामने आया है। आरोप है की सलोन तहसील क्षेत्र स्थित परशदेपुर के अभिषेक राइस मिल में घण्टो बंधक बनाया गया। ये मिल बीजेपी नेता व पूर्व विधायक गजाधर सिंह की बताई जा रही है। अभिषेक राइस मिल में बिजली विभाग के आलाधिकारी डीएम को जानकारी देकर यहां ही डेरा जमाये थे। बताया जा रहा है की देर रात भारी पुलिस बल पहुंचने पर विद्युत कर्मी बंधक से मुक्त हुए। दो जेई सहित आठ विद्युत कर्मचारी बंधक बनाये गये थे। मामला डीह थाना क्षेत्र के परसदेपुर का है।

बिजली चोरी की शिकायत पर जांच करने पहुंचे अधिकारियों और कर्मचारियों को बंधक बनाए जाने का मामला सामने आया है। लगभग सवा करोड़ की बिजली चोरी का अनुमान लगाया जा रहा है। राइस मिल सपा के पूर्व विधायक रहे गजाधर सिंह की है। अब वह कुछ दिन पहले बीजेपी में शामिल हुए थे। मामला डीह थाना इलाके के परशदेपुर का है। यहां अभिषेक राइस मिल के नाम से पूर्व विधायक की राइस मिल है। बिजली विभाग को सूचना मिली थी कि यहां मीटर में गड़बड़ी कर बिजली चोरी की जा रही है। सलोन के विद्युत एक्सईएन की अगुवाई में बिजली विभाग की टीम मंगलवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे अभिषेक राइस मिल जांच के लिए पहुंची थी। जहां एक करोड़ सोलह लाख की विद्युत चोरी पकड़ी गयी जहां से विभाग की टीम को आने नही दिया जा रहा था। बताया जा रहा है कि राइस मिल पर पूर्व विधायक गजाधर सिंह के बेटे मौजूद थे। आरोप है की उन्होंने दो एक्सइएन समेत तकरीबन नौ बिजली कर्मियों को वही पर बंधक बना लिया।

डीएम को दी मामले की जानकारी- अधीक्षण अभियंता यदुनाथ राम ने बताया की उन्होने डीएम माला श्रीवास्तव को जानकारी देने के साथ ही अपने विभागीय एमडी को पूरे मामले से अवगत कराया। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद पुलिस महकमा हरकत में आया और सीओ सलोन समेत एसओ डीह मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर सभी अधिकारियों और बिजली कर्मियों को मुक्त कराया गया। यह बात और है की डीह थाने में बैठक कर काफी देर तक मामले को रफा दफा में लगे रहे लेकिन बात नही बनी। वही डीह एसओ रवीन्द्र सोनकर भी बंधक बनाने की बात पर बोले की टीम को बंधक नहीं बनाया गया बिजली विभाग की टीम चेकिंग करने गई थी। फिर भी पुलिस के दखल के बाद ही टीम वापस आ पाई। इससे साफ जाहिर है की वहां क्या हुआ होगा। मामला भाजपा नेता व पूर्व विधायक का होने के चलते कोई कुछ बोलने को तैयार नही था।

क्या बोले पूर्व विधायक- इस सम्बंध में पूर्व विधायक व भाजपा नेता गजाधर सिंह ने बताया की बंधक बनाने की झूठी अफवाह उड़ाई जा रही है। एक शिकायत पर बिजली विभाग की टीम जांच करने आई थी। बाकी ऐसा कुछ नही है।

क्या बोले अधिकारी- इस मामले अधीक्षण अभियंता यदुनाथ राम ने बताया अभिषेक राइस मिल में जांच करने गयी टीम को मिल के लोग आने नही दे रहे थे। जिसकी जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव को दी गई। जिसके बाद पुलिस फोर्स पहुंची तब उनकी टीम वापस आई। अभिषेक राईस मिल के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया गया है। एक करोड़ सोलह लाख की विद्युत चोरी का मामला है। सारे मीटर आदि ले आये गए हैं। जो भी कार्रवाई है की जा रही है।

रिपोर्ट-दुर्गेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

कुछ इस तरह निखारें आप अपना संपूर्ण व्यक्तित्व

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें कहा जाता है कि प्रेम में बहुत ताकत ...