Breaking News

महिला काव्य मंच की ओर से google meet के ज़रिए आयोजित हुई काव्य गोष्ठी

लखनऊ। महिला काव्य मंच (रजि.)उत्तर प्रदेश (मध्य) की लखनऊ इकाई की मासिक काव्य गोष्ठी का आज दिनांक 30-6-2022 को गूगल मीट के माध्यम से आयोजन हुआ। भीगे मौसम में काव्य गोष्ठी का मजा दुगना हो गया। गोष्ठी डॉ रीना श्रीवास्तव की अध्यक्षता एवं संयोजन में संपन्न हुई।

महिला काव्य मंच की ओर से google meet के ज़रिए आयोजित हुई काव्य गोष्ठी

कार्यक्रम की शुरुआत महासचिव मकाम डॉ उषा चौधरी की कविता ‘किससे कहें कि जख्म गहरे हैं’ से हुई। उसके बाद डॉ अनुराधा पान्डेय ने ‘अभिलाषाएं हर मन में सजती’, डॉ सुधा मिश्रा ने’ इश्क़ है जुनूनी’, स्नेहलता ने ‘जोड़ जोड़ कर तिनका तिनका’, डॉ रेखा गुप्ता ने अपनी गजल’ हमारे प्यार में पर दम बहुत है’, डॉ कालिंदी पांडे ने’प्रभु प्रेम का तराजू’, डॉ कीर्ति श्रीवास्तव ने ‘बचपन की यादों का निपटारा हो गया’, अंजू ने ‘कुछ इंडोर प्लांट गमलों में लगाते हैं’ प्रस्तुत किया।

बीना श्रीवास्तव ने’ बालगीत-चूहे जी शैतान ‘व साधना मिश्रा’ लखनवी’ ने’ मां की निशानी’सुना कर वाहवाही लूटी। डॉ पूनम सिंह ने’ तेरी तस्वीर तो मेरे दिल में है माँ’, सुगन यादव ने हाल ए दिल न कहना जमाने से’, मनीषा श्रीवास्तव ने ‘इश्क की राहों में तुम’, अर्चना पाल ने
‘समय तो आखिर लगता है’, सरिता कटियार ने पिता जब ताप में जलता’, नवोदित सदस्या अल्का गुप्ता ‘प्रियदर्शनी’ ने’रखो याद मन में’, शालिनी त्रिपाठी ने ‘तू जिंदगी को जी’ और अंत में डॉ रीना श्रीवास्तव ने अपनी कविता ‘जिंदगी खुशनुमा हो जाएगी अगर ‘ के साथ गोष्ठी का समापन किया।कार्यक्रम का बहुत ही कुशलतापूर्वक एवं प्रभावशाली संचालन करते हुए डॉ रीना श्रीवास्तव ने सभी कवयित्रियों का आभार व्यक्त किया तथा सर्वे भवन्तु सुखिना,सर्वे संतु निरामया के संदेश के साथ कार्यक्रम को विराम दिया।

About reporter

Check Also

JEE Mains परीक्षा में CMS छात्रों का शानदार प्रदर्शन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Wednesday, August 10, 2022 लखनऊ। ...