Breaking News

रेलवे ने माना राजेश महिला है

दिल्ली। तीन साल की लंबी लड़ाई के बाद आखिरकार राजेश पाण्डेय रेलवे के रिकॉर्ड में महिला हो गए। लिंग परिवर्तन के बाद कागजात में पुरुष से महिला बनने के लिए जद्दोजहद कर रहे राजेश का नाम अखिरकार रेलवे के पास और मेडिकल कार्ड में भी बतौर महिला दर्ज हो गया। हालांकि, अभी उनका नाम राजेश से सोनिया नहीं किया गया है, अगले कुछ दिनों में यह भी बदल जाएगा। मुख्य कारखाना प्रबंधक इज्जतनगर ने कार्मिक विभाग को पत्र लिखकर कहा है कि रेलवे बोर्ड का अंतिम आदेश आने तक राजेश पाण्डेय को महिला माना जाए। इसी निर्देश के बाद राजेश पाण्डेय उर्फ सोनिया के पास और मेडिकल कार्ड में लिंग बदलकर पुरुष से महिला दर्ज कर दिया गया है। दरअसल, इज्जतनगर के मुख्य कारखाना प्रबंधक कार्यालय में कार्यरत तकनीकी ग्रेड-एक के पद पर तैनात राजेश पाण्डेय ने अफसरों से गुहार लगाई थी उसे रेलवे के रिकार्ड में महिला कर दिया जाए। मामला अनोखा और दुर्लभ होने के कारण इज्जतनगर मंडल ने मामले को पूर्वोत्तर रेलवे के जीएम कार्यालय से दिशा-निर्देश मांगा था। यह मामला जब जीएम के सामले आया तो उन्होंने इसे बोर्ड को भेजा। आखिरकार रेलवे ने राजेश के पास और मेडिकल कार्ड पर लिंग महिला दर्ज कर दिया है।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद: तीस सितंबर को होगी सुनवाई

30 सितंबर का दिन काफी महत्वपूर्ण हो गया है। इस दिन अयोध्या में विवादित ढांचा ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *