Breaking News

किसानों को राहत के प्रयास

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

किसानों को उनकी उपज का शत प्रतिशत भुगतान उत्तर प्रदेश सरकार की प्राथमिकता में रहा है। डिजिटल माध्यम से किसानों के खातों में धनराशि पहुंचाई जा रही है। इस पारदर्शी व्यवस्था में कोई बिचौलिया नहीं है। किसानों के मोबाइल पर पर्ची आती है। उनको पूरा भुगतान प्राप्त होता है। इस माध्यम से प्रदेश की वर्तमान सरकार ने अब तक गन्ना किसानों के भुगतान का कीर्तिमान स्थापित किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अब तक प्रदेश के गन्ना किसानों को लगभग 1,33,100 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है। ऑनलाइन पर्ची के वितरण किसानों को लाभ पहुंचा है। भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है। चीनी मिलों तक गन्ने को पहुंचाने में आसानी हो रही है,जिससे संक्रमण को रोकने में मदद मिली है। चीनी मिलों के साथ संवाद बनाते हुए गन्ना किसानों के हित में कार्यवाही की जा रही है।

पारदर्शी व्यवस्था

प्रदेश सरकार ने वर्ष 2019-20 में गन्ना किसानों से 35,998 करोड़ रुपए का गन्ना खरीदा तथा गन्ना मूल्य का शत-प्रतिशत भुगतान सुनिश्चित किया। इस वर्ष 2020-21 में अब तक चीनी मिलों को दिए गए गन्ना मूल्य का 63 प्रतिशत से अधिक का भुगतान किया गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि गेहूं क्रय केन्द्रों का भी संचालन कोरोना कालखण्ड में कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए सुनिश्चित किया जा रहा है। किसानों को उनकी उपज का बहत्तर घण्टे के भीतर भुगतान किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के दौरान एक भी चीनी मिल बन्द नहीं हुई। किसानों को तकनीक के साथ जोड़ा गया है।

नई खाण्डसारी मिलों को लाइसेंस प्रदान किए गए हैं। पर्ची सिस्टम में बदलाव किया गया है। एक जनपद, एक उत्पाद योजना के माध्यम से गुड़ के उत्पादन को बढ़ावा मिला है,जिससे किसानों को लाभ हुआ है। उन्होंने कहा कि कोविड काल में भी गन्ना किसानों का ध्यान रखा गया। इसके अलावा,गन्ना पर्ची वितरण,गन्ना भुगतान की व्यवस्था,गन्ना किसानों को तकनीक से जोड़ने, बन्द चीनी मिलों को संचालित करने, सैनिटाइजर का उत्पादन करने, गन्ना उत्पादन एवं रिकवरी में वृद्धि, घटतौली एवं भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाए जाने से गन्ना किसान लाभान्वित हुए हैं।

आय बढ़ाने के प्रयास

वर्तमान केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में प्रयास कर रही है। प्रदेश सरकार द्वारा गन्ना किसानों की आमदनी बढ़ाने तथा उनको त्वरित गन्ना मूल्य का भुगतान किए जाने के उद्देश्य से अनेक योजनाएं चलायी जा रही हैं। गन्ना किसानों के लिए वेबसाइट,ई गन्ना एप, गन्ना क्षेत्र का सर्वे, कैलेण्डर,ऑनलाइन पर्ची वितरण के नए सिस्टम से किसान लाभान्वित हुए हैं। पारदर्शिता,ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ गन्ना किसानों के भुगतान का कार्य किया जा रहा है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश की चीनी मिलों में चीनी के साथ।साथ एथनाॅल के उत्पादन को बढ़ावा मिला है। उत्तर प्रदेश सर्वाधिक एथनाॅल उत्पादन कर रहा है। यह नया प्रयोग गन्ना किसानों के लिए हितकारी साबित हुआ है। चीनी मिलों द्वारा सैनिटाइजर के उत्पादन से भी कोरोना संक्रमण से लड़ने में मदद मिली। चीनी मिलों में सैनिटाइजेशन के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया। समयबद्ध ढंग से अन्य बन्द पड़ी चीनी मिलों का संचालन सुनिश्चित किया जाएगा।

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

भाजपा की नीति और नीयत में खोट: अखिलेश यादव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *