Breaking News

श्रीलंकाई नौसेना ने आईएनएस खंजर का किया स्वागत

भारत सागर सिद्धांत और पड़ोसी प्रथम नीति के तहत अपने समुद्री सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके अनुरूप, विभिन्न भारतीय नौसेना जहाज अपने समुद्री साझेदारों के बंदरगाहों का दौरा करते हैं और नौसेना अधिकारी विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेते हैं। 29 जुलाई को आईएनएस खंजर तीन दिवसीय यात्रा के लिए श्रीलंका के त्रिंकोमाली पहुंचा।

श्रीलंकाई नौसेना ने आईएनएस खंजर का किया स्वागत

श्रीलंकाई नौसेना ने भारतीय जहाज का स्वागत किया और ट्वीट किया भारतीय नौसेना जहाज (आईएनएस) खंजर 29 जुलाई को औपचारिक यात्रा पर त्रिंकोमाली बंदरगाह पर पहुंचा। आने वाले जहाज का @srilanka_navy द्वारा नौसैनिक परंपरा के साथ स्वागत किया गया।

👉सीमा गुलाम हैदर : पाक सिम और टूटा हुआ मोबाइल खोलेंगे राज

इस यात्रा में लोगों से लोगों के बीच संबंध बनाने के लिए कुछ अनोखा देखा गया, जिसमें आईएनएस खंजर स्कूली बच्चों और जनता के लिए खुला था, ताकि वे यह समझ सकें कि भारतीय नौसेना जहाज के भीतर विभिन्न पहलू क्या हैं। इसके अतिरिक्त, भारतीय नौसेना ने श्रीलंकाई नौसेना के साथ मिलकर दोनों नौसेनाओं के बीच सहयोग और सद्भावना प्रदर्शित करने के लिए कई प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए।

श्रीलंकाई नौसेना ने आईएनएस खंजर का किया स्वागत

आईएनएस खंजर पर चालक दल ने योग सत्र किया और समुद्र तट पर सफाई अभियान भी चलाया। इस प्रकार आर्थिक सहयोग के साथ-साथ भारत और श्रीलंका समुद्री सुरक्षा में अपनी साझेदारी को बढ़ावा देना जारी रख रहे हैं। उपमहाद्वीप में चीन के स्ट्रिंग ऑफ पर्ल्स अभियान को रोकने के लिए ऐसा सहयोग भारत के लिए भी महत्वपूर्ण है।

रिपोर्ट-शाश्वत तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

लविवि में ट्रांसजेंडर अधिकारों और ट्रांसजेंडर अधिनियम पर संवेदीकरण कार्यक्रम आयोजित

लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग में आज ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को समाज के ...