Breaking News

एसिडिटी से लेकर कैंसर तक की वजह बन सकती है चाय, जानिए सेहत के लिए कितनी खतरनाक है चाय

भारत में चाय के शौकीन लोगों की भरमार है. चाय का शौक ऐसा होता है, कि एक बार अगर किसी को इसकी लत हो जाए तो इसे छुड़ा पाना मुश्किल हो जाता है. तमाम घरों में तो सुबह की शुरुआत ही बिस्तर पर चाय के साथ होती है.

अगर आप भी चाय के शौकीन हैं और आपको बेड टी लेने की आदत है या फिर दिन में कई बार चाय पीने की आदत है तो इस आदत को जल्द से जल्द बदल दें क्योंकि ये आपकी सेहत के लिए इतनी खतरनाक हो सकती है, जिसके बारे में आपने शायद कल्पना भी न की हो. खाली पेट चाय पीने या ज्यादा चाय पीने की आदत आपको कैंसर की दहलीज तक पहुंचा सकती है. जानिए इसके नुकसान.

1. स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो खाली पेट चाय पीने से पेट में एसिड बनता है. इसकी वजह से पेट के अंदर के टिश्यू की परत को नुकसान पहुंचता है. इसकी वजह से एसिडिटी, अपच, पेट में जलन और सीने व गले में जलन की समस्या होती है.

2. खाली पेट चाय पीने से बाइल जूस की प्रक्रिया अनियमित हो जाती है, जिसकी वजह से मितली और घबराहट जैसी परेशानियां हो सकती हैं. इसके अलावा तमाम हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि रोजाना खाली पेट चाय पीने से पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर का रिस्क बढ़ता है.

3. अगर आपको दिन में चार से पांच बार चाय पीने की आदत है तो इस आदत को जल्द से जल्द सुधार लीजिए. बहुत ज्यादा चाय पीने से फूड पाइप में कैंसर और गले में कैंसर का रिस्क बढ़ता है.

4. कुछ लोगों को खाना खाने के बाद चाय पीने की आदत होती है, अगर आप भी ऐसा करते हैं तो ये आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है. दरअसल चाय में टैनिन होता है. ये खाने में मौजूद आयरन के साथ रिएक्ट कर सकता है. इसके अलावा खाने के बाद चाय पीने से खाने के पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं.

5. कुछ लोग काफी स्ट्रॉन्ग चाय पीते हैं. ज्यादा स्ट्रॉन्ग चाय पीने से पेट में कई तरह की समस्या पैदा होती है, साथ ही आप इसके आदी हो जाते हैं.

क्या करें

अगर आपको चाय पीने का शौक है तो इसे सीमित मात्रा में पिएं और ज्यादा गर्म और ज्यादा स्ट्रॉन्ग चाय न पिएं. दिनभर में दो बार से ज्यादा चाय नहीं लेनी चाहिए. जब भी चाय पिएं तो इसके साथ बिस्किट या स्नैक्स वगैरह जरूर लें. लेकिन सबसे बेहतर है कि आप चाय की जगह ग्रीन टी या लेमन टी लें.

About Ankit Singh

Check Also

सावन सोमवार के व्रत में करें इन चीजों का सेवन, महादेव को भी लगाएं भोग

सावन के महीने में भगवान शिव शंकर की आराधना की जाती है। इस पूरे महीने ...