युवती की हत्या बनी अबूझ पहेली, पुलिस ने किया दुष्कर्म से इंकार

मोहम्मदी/खीरी। पसगवां कोतवाली की पुलिस चौकी मोहम्मदपुर ताजपुर चौकी क्षेत्र के ग्राम मुड़िया चूड़ामणी निवासी राम सरन कुशवाहा की तीन दिन पूर्व लापता 19 वर्षीय पुत्री का शव गांव के बाहर स्थित गन्ने के खेत से बरामद होने के बाद इलाके में सनसनी फ़ैल गयी थी। घटना की सूचना पाते ही सीओ अभय प्रताप ने मौके पर पहुंच कर घटना की जानकारी ली। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आनन फानन में उसका पोस्टमार्टम भी करवा दिया।

पीएम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने बलात्कार जैसी घटना से इंकार किया है। जबकि उसकी मौत कैसी हुई, यह अभी भी रहस्य बना हुआ है। जबकि शव की नाक, मुँह से खून बह रहा था, गर्दन चेहरे पर खरोच के निशान थे। शव को किसी दुसरे स्थान से घसीट कर लाया गया था जैसे गीले निशान खेत में मौजूद थे। मृतका की चप्पल, दुपट्टा दूर पड़ा था। उसकी हत्या क्यों और किसने की, इसका उत्तर ना पुलिस दे रही है और ना परिवारजन। गरीब परिवार की बिटिया की हत्या की सूचना पाकर तमाम सपा नेता गांव पहुंचे तथा घटना स्थल का जायज़ा लेकर परिवारजनों से मिले और उन्होंने न्याय दिलाने का भरोसा दिलाते हुए सराहना दी।

पसगवां क्षेत्र के ग्राम मुड़िया चूड़ामणी निवासनी 19 वर्षीय शिल्पी की अपहरण उपरांत की गयी हत्या से मृतका का परिवार ही नहीं पूरा गांव सदमे में है। जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की शाम को शिल्पी अपने खेत पर झाड़ू लेकर धान साफ़ करने गयी थी और वहीं से लापता हो गयी थी। परिवार जनों ने गाँव वालों एवं पुलिस की मदद से उसे काफी तलाशा, लेकिन उसका कोई पता नहीं चल पाया था। कल रविवार शाम 5 बजे के लगभग शिल्पी का शव गाँव के ही अवतार के खेत में पाया गया। परिस्थितियां बता रही हैं कि उसे किसी वासना के भेड़िये ने जोर जबरदस्ती के दौरान विरोध के बाद असफल रहने पर उसकी हत्या कर दी और शव को अवतार के पानी भरे गन्ने के खेत में लाकर डाल दिया।

Loading...

गौरतलब हो, शव मिलने कि सूचना पाते ही पसगवां कोतवाली प्रभारी आदर्श कुमार सिंह, सीओ अभय प्रताप मल दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए और घटना स्थल तथा आस-पास का मुआयना किया था। मृतका के परिवार जनो तथा गांव वालों ने सावला उठाते हुए कहा कि पुलिस ने घटना स्थल पर फॉरेंसिक टीम की मदद से सबूत जुटाने का कोई प्रयास नहीं किया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज आनन-फानन में पीएम रिपोर्ट भी मंगवा लिया। मृतका को चोटें कैसे आयी, नाक-मुँह से खून क्यों निकला यह स्तिथि भी साफ़ नहीं है। परिजनों का आरोप है कि रिपोर्ट पुलिस कि मंशा के अनुरूप बनी है ताकि मृतका कि मौत पर हो हल्ला न हो सके।

फिलहाल शिल्पी की मौत पर पीएम रिपोर्ट भी पर्दा नहीं उठा सकी। वहीं पुलिस भी अंधेरे में हाँथ पैर चलाकर हत्यारे को खोजने का प्रयास कर रही है। शिल्पी की मौत से जहां उसके परिवार में कोहराम सा मचा है, वहीं गाँव में सन्नाटा पसरा पड़ा है। मृतका के परिवार जनो ने पुलिस की कार्यशैली पर लापरवाही व घटना को मोड़ने का आरोप लगाया है।

इस सनसनी खेज घटना की जानकारी होते ही सपा के वरिष्ठ नेता पूर्व जिला अध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह, विधानसभा अध्यक्ष दिलीप यादव, जिला कार्यकारणी सदस्य डॉ. जुबैर अहमद, नगर अध्यक्ष इकरार खां, युवा नेता मोनिश अंसारी सहित तमाम लोग मृतक के घर पहुंचे और पूरे परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना देते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी उनके साथ है।

रिपोर्ट-सुखविंदर सिंह कम्बोज

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

एक भारत श्रेष्ठ भारत की प्रेरणा

बल्लभ भाई पटेल ने परतंत्रता के समय ही एक भारत श्रेष्ठ भारत की कल्पना की ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *