Breaking News

लखनऊ- कानपुर रूट पर 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेंगी ट्रेनें

लखनऊ. रेलवे लखनऊ कानपुर रूट पर जल्द ही 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनों को दौड़ाने की तैयारी कर रहा है। इस रूट पर वर्षों पुरानी सिग्नल प्रणाली की वजह से अपनी क्षमता से न दौड़ने वाली कानपुर रूट की ट्रेनों को जल्द ही रफ्तार मिलेगी।

लखनऊ मंडल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे लखनऊ से कानपुर रूट पर 130 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से ट्रेनें दौड़ाने की जुगत में जुट गया है। इसके लिए रेलवे लखनऊ से कानपुर के बीच पड़ने वाले सात छोटे स्टेशनों की पुरानी सिग्नल प्रणाली को बदलकर यहां एडवांस तकनीक वाली इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग लगायेगा। जिससे स्टेशन मास्टर एक स्क्रीन से ही अपनी ट्रेनों का रूट और प्वाइंट सेट कर सकेगा।

दरअसल लखनऊ से कानपुर रेलखंड पर ट्रेनों की अधिकतम गति क्षमता अभी 110 किलोमीटर प्रतिघंटा ही तय है। शताब्दी एक्सप्रेस भी अधिकतम इसी गति से दौड़ सकती है। कमजोर पटरिया भी तेज रफ्तार में बाधा बन रही हैं। रेलवे ने कमजोर पटरियों को ब्लाक लेकर बदलने का काम शुरू कर दिया है। इसके साथ ही सोनिक,अमौसी,पिपरसंड,अजगैन,उन्नाव,मगरवारा और हरौनी स्टेशनों पर इलेक्ट्रॉनिक नॉन इंटरलॉकिंग होगी। इससे स्टेशन मास्टर स्वयं एक बटन दबाकर ट्रेन का रूट तय कर सकेंगे। साथ ही अपनी स्क्रीन पर वह यार्ड की स्थिति भी देख सकेंगे। इससे प्वाइंट की गड़बड़ी से गलत पटरी पर जाकर दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा जा सकेगा।

Loading...

गौरतलब है कि तीन साल पहले संत कबीरनगर में गोरखधाम एक्सप्रेस गलत प्वाइंट सेट होने के कारण लूप लाइन पर खड़ी मालगाड़ी से भिड़ गई थी। इसलिए ऐसी दुर्घटनाओं से बचने के लिए रेलवे प्रशासन जोर-शोर से तैयारियों में लगा हुआ है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मनचले की वजह से छात्रा ने कोंचिग जाना छोड़ा

मैनपुरी। कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ले में मनचले की हरकत से परेशान छात्रा ने कोचिंग ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *