Breaking News

देश को लॉकडाउन से बचाना है, तो करें ये उपाय : PM मोदी

भारत में कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित किया। पीएम ने अपने संबोधन में कहा, कोरोना के खिलाफ देश आज फिर एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। कुछ समय पहले तक स्थितियां संभली हुई थीं, फिर ये कोरोना की दूसरी वेव उफान बनकर आ गई। जो पीड़ा आपने सही है, जो आप सह रहे हैं, उसका मुझे अहसास है। जिन लोगों ने बीते दिनों में अपने को खोया है, मैं सभी देशवासियों की तरफ से संवेदनाएं प्रकट करता हूं। मैं आपके दुख मैं शामिल हूं। चुनौती बड़ी है लेकिन हमें मिलकर अपने संकल्प, अपने हौसले और तैयारी के साथ इसको पार करना है।

पीएम मोदी ने कहा, इस बार जैसे ही कोरोना के केस बढ़े, फार्मा सेक्टर ने दवाइयों का उत्पादन और बढ़ा दिया है। इसे अभी और तेज किया जा रहा है। प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए हर तरीके से दवाई कंपनियों की मदद ली जा रही है। हमारे पास इतना मजबूत फार्मा सेक्टर है। अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाने का भी काम चल रहा है। पीएम मोदी ने कहा, कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए। तभी हम विजय हासिल कर सकते हैं। जो फैसले लिए गए हैं, वह स्थिति को तेजी से सुधारेंगे। ऑक्सीजन की डिमांड बहुत ज्यादा बड़ी है। इस दिशा में बहुत तेजी से काम किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, हर जरूरतमंद को ऑक्सीजन मिले इसके लिए कई स्तर पर उपाय किए जा रहे हैं। राज्यों में नए ऑक्सीजन प्लांट, राज्यों को 1,00,000 सिलेंडर पहुंचाने हो, औद्योगिक इकाइयों में इस्तेमाल हो रही ऑक्सीजन का मेडिकल इस्तेमाल हो, रेल हो…हर स्तर पर प्रयास हो रहा है। उन्होंने आगे कहा, आज दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन भारत में है। वैक्सीन को फास्ट ट्रैक अप्रूवल और रेगुलेटरी सेवक के तहत तैयार किया गया। दुनिया में सबसे तेजी से भारत में 12 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन दिया गया है। 1 मई के बाद से 18 वर्ष के ऊपर के किसी भी व्यक्ति को वैक्सीनेट किया जा सकेगा। पहले की तरह सरकारी अस्पतालों में मुफ्त वैक्सीन मिलती रहेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा, यह एक टीम एफर्ट है, जिसके कारण हमारा भारत, दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स के साथ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू कर पाया।टीकाकरण के पहले चरण से ही गति के साथ ही इस बात पर जोर दिया गया कि ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों तक, जरूरतमंद लोगों तक वैक्सीन पहुंचे। मैं राज्यों से कहूंगा कि वह लॉकडाउन को आखिरी विकल्प के तौर पर ही देखें। लॉकडाउन से हमें बचने की भरपूर कोशिश करनी है। राज्य माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ज्यादा ध्यान दें। युवा साथियों से अनुरोध है कि अपने मोहल्ले में कमेटियां बनाकर कोविड-19 शासन करवाने में मदद करें। घर का माहौल कम करना जरूरी लोग अफवाहों में ना आए।

पीएम ने कहा, मेरा राज्य प्रशासन से आग्रह है कि वो श्रमिकों का भरोसा जगाए रखें। उनसे आग्रह करें कि वो जहां हैं, वहीं रहें। राज्यों द्वारा दिया गया ये भरोसा उनकी बहुत मदद करेगा कि वो जिस शहर में हैं, वहीं पर अगले कुछ दिनों में वैक्सीन भी लगेगी और उनका काम भी बंद नहीं होगा। हमारे शास्त्रों में कहा गया है- त्याज्यं न धैर्यं विधुरेऽपि काले। कठिन से कठिन समय में भी हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए हम सही निर्णय लें, सही दिशा में प्रयास करें तभी विजय हासिल कर सकते हैं। इसी मंत्र को लेकर आज देश दिन-रात काम कर रहा है। उन्होंने ने कहा, अपने बाल मित्रों से एक बात विशेष तौर पर कहना चाहता हूं। मेरे बाल मित्र, घर में ऐसा माहौल बनाएं कि बिना काम, बिना कारण घर के लोग, घर से बाहर न निकलें। आपकी जिद बहुत बड़ा परिणाम ला सकती है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

यूपी में राष्ट्रपति के गांव परौंख में शिक्षा के साथ बच्चों को मिला रोशनी का अधिकार

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। योगी सरकार यूपी के गांवों में पढ़ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *