भाकियू ने बाहरी लोगों को मुजफ्फरनगर छोड़ने की दी धमकी

मुजफ्फरनगर। भारतीय किसान यूनियन भाकियू के एक नेता यह कहकर सनसनी फैला दी कि एक महीने के अंदर बाहरी युवक मुजफ्फरनगर छोड़ दें, नहीं तो वह खुद ही उन्हें बाहर निकाल देंगे। इसके बाद से ही जिला प्रशासन भी सतर्क हो गया है।

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता

दरअसल, भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी इस पर कहा कि, ‘हम बाहरी लोगों को नौकरी देने के विरोध में नहीं हैं, लेकिन सारी नौकरियां अगर बाहरी युवकों को ही मिल जाएंगी तो यहां के स्थानीय शिक्षित व प्रशिक्षित युवा कहां जाएंगे।’ वहीं सांसद एवं पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान ने भी कहा कि वह इस पक्ष में बिल्कुल नहीं हैं कि गैरजनपद या गैर प्रदेश के युवाओं को यहां से निकाला जाए। लेकिन जिले की औद्योगिक इकाइयों में स्थानीय युवाओं को ही प्राथमिकता मिलनी चाहिए।

मुजफ्फरनगर के उद्योगों में

बता दें कि किसान यूनियन ने मुजफ्फरनगर के उद्योगों में बाहरी युवकों को नौकरी देने का विरोध करते हुए डीएम को ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन द्वारा जिलाध्यक्ष राजू अहलावत का कहना है कि जिले की चीनी, पेपर मिल और अन्य उद्योगों में पड़ोसी राज्यों तथा बाहरी जिलों के युवकों को नौकरी दी जा रही है। जबकि मुजफ्फरनगर जिले के शिक्षित और प्रशिक्षित युवा निराश हैं। एक महीने में बाहरी युवक जिले को छोड़ दें, नहीं तो हम खुद उन्हें बाहर निकाल देंगे।
इस बाबत जिलाधिकारी राजीव वर्मा ने बताया कि भाकियू का एक प्रतिनिधिमंडल मुझसे मिलने सोमवार को आया था। उन्होंने बाहरी युवकों को जिले में लगी फैक्ट्रियों में नौकरी दिए जाने का विरोध किया है। साथ ही बाहरी युवकों को एक माह में निकालने की बात कही गई है। जिले में किसी को भी गलत कार्य नहीं करने दिया जाएगा।

 

About Samar Saleel

Check Also

दिल्ली सरकार का 10वीं-12वीं के छात्रों तोहफा- नहीं देनी होगी बोर्ड परीक्षा की फीस

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) के 10वीं और 12वीं बोर्ड की फीस बढ़ाने के ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *