Breaking News

पांडव नदी की सफाई हेतु सौंपा मांग पत्र, बरसात के समय जल भराव से किसानों की फसल हो जाती है नष्ट

बिधूना। विकास से निकली पांडव नदी उथली एवं उसके जल निकास का समुचित प्रबंध न होने के कारण बरसात के समय क्षेत्र में जल भराव के कारण कैथावा, रायपुर, धरमंदपुर, लालपुर, वराहार, जरावन, धनी पुर्वा, पुर्वा भवन आदि दर्जन भर से अधिक गांवों के किसानों की फसलें जलमग्न होकर नष्ट हो जाती हैं।

इससे बरसात का समय आते ही किसान बहुत परेशान व चिंतित हो जाता है। इन गांवों के किसान साइफन आदि की सफाई सहित नदी को गहरा कराने की कई बार मांग कर चुके हैं पर अभी तक उनकी समस्या का कोई हल नहीं हुआ है।

पांडव नदी की सफाई हेतु सौंपा मांग पत्र, बरसात के समय जल भराव से किसानों की फसल हो जाती है नष्ट

गुरूवार को विकास खंड के ग्राम पूर्वा भवन व धनी पुर्वा के दर्जन भर से अधिक किसान ब्लाक कार्यालय पहुंचे जहां पर उन्होंने ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि आदर्श सेंगर को एक मांग पत्र सौंप कर बरसात से पूर्व नदी की सफाई कराये जाने की मांग की। उक्त ग्रामों के किसानों ने लिखा बरसात के समय पांडव नदी में जल भराव के कारण आसपास के गांवों के किसानों की फसल का बहुत नुकसान हो ताजा है। इसके अलावा जल भरव के कारण उन्हें आवागमन में भी खासी दिक्कत होती है। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि उक्त समस्या निजात दिलाने हेतु बरसात से पहले पांडव नदी की सफाई करायी जाये।

ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि आदर्श सेंगर ने ग्रामीणों को आश्वासन देते हुए कहा कि पांडव नदी के सफाई का कार्य क्षेत्र पंचायत की मनरेगा योजना में शामिल कर लिया गया है। जिलाधिकारी की अनुमति मिलते ही दस दिन के अंदर नदी की सफाई का काम शुरू करा दिया जायेगा।

ज्ञापन देने वालों में शिवकान्त पाल, प्रवेश पाल, शैलेन्द्र सिंह पाल, धर्मेन्द्र पाल, जिलेदार पाल, ओम प्रकाश पाल, राजेश पाल, राम गोपाल पाल, राजीव पाल, राम रतन पाल, शिव गोविन्द पाल, अरविन्द सिंह, सुरेन्द्र सिंह, सत्यपाल भदौरिया सभी पुर्वा भवन एवं रविन्द्र भदौरिया, भगवान सिंह, राजू सेंगर सभी धनी पुर्वा शामिल थे।

रिपोर्ट – अनुपमा सेंगर

About reporter

Check Also

संत कबीरदास जयंती समारोह पर राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी आयोजित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Wednesday, May 25, 2022 लखनऊ। राष्ट्रीय ...