Breaking News

बाबू जगजीवन राम रे.सु.ब. अकादमी में आयोजित की गई आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस की पासिंग आउट परेड

इस मौक़े पर, महानिरीक्षक-सह-निदेशक, मुनव्वर खुर्शीद द्वारा आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस को रेलवे, आरपीएफ, पुलिस, प्रेस और मीडिया के अन्य अतिथियों की उपस्थिति में….

लखनऊ। जगजीवन राम रेलवे सुरक्षा बल अकादमी, लखनऊ में आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस की पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया। रे.सु.बल, अकादमी, लखनऊ के महानिरीक्षक सह-निदेशक मुनव्वर खुर्शीद, इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

बाबू जगजीवन राम रे.सु.ब. अकादमी में आयोजित आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस की पासिंग आउट परेड
अतिथियों की उपस्थिति में निष्ठा की प्रथागत शपथ दिलाई गई।

इस मौक़े पर, महानिरीक्षक-सह-निदेशक, मुनव्वर खुर्शीद द्वारा आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस को रेलवे, आरपीएफ, पुलिस, प्रेस और मीडिया के अन्य अतिथियों की उपस्थिति में निष्ठा की प्रथागत शपथ दिलाई गई।

पासिंग आउट परेड के दौरान 73 निरीक्षक प्रशिक्षु भी परेड में शामिल रहे

9 माह के कठोर प्रशिक्षण के बाद, शुक्रवार को, कुल 21 उप-निरीक्षक कैडेटस पास हुए। रेलवे में आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए उप-निरीक्षक कैडेटस को आंतरिक और बाहरी विषयों में 9 महीने का बुनियादी प्रशिक्षण दिया गया है। शुक्रवार को, उन्होंने इस असाधारण और रंगीन परेड में भाग लिया और शपथ लेने के बाद, वे रेलवे सुरक्षा बल के सदस्य बन गए हैं। पासिंग आउट परेड के दौरान 73 निरीक्षक प्रशिक्षु भी परेड में शामिल रहें। परेड का आयोजन सामाजिक दूरी को बनाए रखते हुए और सभी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया गया था।

मुख्य अतिथि ने आरपीएफ परिवार में कैडेटस को कठोर प्रशिक्षण पास करने के बाद उनका स्वागत किया

महानिरीक्षक-सह-निदेशक, जगजीवन राम रे.सु.बल, अकादमी, लखनऊ ने पुरस्कार विजेताओं को पदक प्रदान किए। इस अवसर पर सचिन को बेस्ट इन इंडोर सब्जेक्ट्स और ऑलराउंड बेस्ट उप-निरीक्षक कैडेट के लिए मेडल और सर्टिफिकेट से सम्मानित किया गया। रोहित को आउटडोर बेस्ट उप-निरीक्षक कैडेट के लिए मेडल और सर्टिफिकेट से सम्मानित किया गया।

9 माह के कठोर प्रशिक्षण के बाद कुल 21 उप-निरीक्षक कैडेटस पास हुए

अपने संबोधन में मुख्य अतिथि ने आरपीएफ परिवार में आरपीएफ उप-निरीक्षक कैडेटस को कठोर प्रशिक्षण पास करने के बाद उनका स्वागत किया और उन्हें आरपीएफ में राष्ट्र की सेवा के दौरान अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए कहा। उन्होंने उप-निरीक्षक कैडेटस को उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए बधाई दी, युवा उप-निरीक्षक कैडेटस के उज्ज्वल भविष्य की कामना की और उन्हें अत्यधिक व्यावसायिकता और करुणा के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए प्रोत्साहित किया। अंत में, पीओपी के पूरा होने पर, ज्योति कुमार सतीजा, डीआईजी/प्रशिक्षण द्वारा धन्यवाद प्रस्ताव दिया गया।

रिपोर्ट – दयाशंकर चौधरी

About reporter

Check Also

पारदर्शी व्यवस्था का व्यापक लाभ

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Thursday, May 19, 2022 नियुक्तियों में ...