Breaking News

जंग के बीच अचानक यूक्रेन पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, सड़कों पर दिखे…

यूक्रेन पर रूस के हमले की पहली सालगिरह से कुछ दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन अचानक राजधानी कीव पहुंचे. उनका यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने स्वागत किया. दोनों नेता कीव की सड़कों पर भी देखे गए, जिसकी तस्वीरें और वीडियोज वायरल हो रहे हैं.

क्यों झेल रही निराशा, स्वास्थ्य कार्यकर्ता आशा?

जंग के बीच यूक्रेन पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

अमेरिकी राष्ट्रपति 20-22 फरवरी को पोलैंड का दौरा करने वाले हैं, ताकि वहां अमेरिकी सैनिकों की संख्या में इजाफे को लेकर पोलिश प्रधानमंत्री माटुस्ज़ मोराविकी से चर्चा की जा सके. लेकिन उससे पहले ही उन्होंने कीव पहुंचकर सबको चौंका दिया. इस दौरान जो बाइडेन ने कहा, एक साल बाद, कीव खड़ा है और यूक्रेन खड़ा है. लोकतंत्र खड़ा है.

सोमवार सुबह शहर में एयर सायरन बज उठे. मध्य कीव की कई अहम सड़कों को ब्लॉक कर दिया गया और मिनी बस और बख्तरबंद गाड़ियों का एक लंबा काफिला सिटी सेंटर की ओर जाते हुए देखा गया.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कीव में कहा कि यूक्रेन को 500 मिलियन डॉलर का मिलिट्री पैकेज मिलेगा, जिसकी घोषणा मंगलवार को की जाएगी. यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार ने अमेरिकी राष्ट्रपति के हवाले से कहा, ‘रूस जरूर हारेगा. पुतिन और उनके सहयोगी चाहे जो कर लें. यूक्रेन को जो हथियार चाहिए होंगे, उसको मिलेंगे. कोई समझौता नहीं.’

जागरुकता से खत्म होगी दहेज जैसी कुरीति!

24 फरवरी को यूक्रेन-रूस युद्ध को एक साल पूरा हो जाएगा. अभी भी ग्राउंड जीरो पर स्थिति खतरनाक बनी हुई हैं. जो बाइडेन के साथ जेलेंस्की की मुलाकातें पहले भी हुई हैं लेकिन यह पहली बार है जब अमेरिकी राष्ट्रपति कीव पहुंचे हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति का यह दौरा रूस और अंतरराष्ट्रयी समुदाय को इस बात का संकेत है कि यूएस यूक्रेन का समर्थन करता रहेगा. पूर्व यूक्रेन में लड़ाई ने भयानक रूप ले लिया है और रूस लगातार मिसाइलों से यूक्रेन के शहरों पर हमला कर रहा है. नए साल की पूर्व संध्या और 1 जनवरी को कीव में नागरिक इमारतों और घरों पर रूसी मिसाइलें गिरी थीं.

About News Room lko

Check Also

लविवि में ट्रांसजेंडर अधिकारों और ट्रांसजेंडर अधिनियम पर संवेदीकरण कार्यक्रम आयोजित

लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग में आज ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को समाज के ...