Breaking News

शुरू हुई गांवों को तीसरी लहर से बचने की कवायद, मिलेगा फ्री में आयुष काढ़ा

रायबरेली। हास्य कवि पंकज प्रसून ने काढ़ा कैफ़े खिलने की श्रृंखला का शुभारंभ कर दिया है। पहला काढ़ा कैफ़े सतांव ब्लॉक के लोहड़ा गांव में खोला गया है।यहां पर सबको बना बनाया काढ़ा कुल्हड़ में पिलाया गया। यह काढ़ा कैसे पहले से चल रहे कोविड केयर एंड हेल्प सेंटर में खोला गया है। खांसी के मरीजों को भाप मशीने भी वितरित की गईं। राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिक एवं चिकित्सक डॉ. संजीव ओझा ने बताया कि सर्दियों के अलावा गर्मियों में भी काढ़े का सेवन करना चाहिए। बस मात्रा एक कप से ज्यादा नहीं होनी चाहिये। उन्होंने बताया कि खाली पेट काढ़ा नहीं पीना चाहिये।

आओ गांव बचाओ मुहिम के कोऑर्डिनेटर नीरज शुक्ला ने बताया कि ऐसे ही 10 सेंटर और खोले जाएंगे। सड़क औऱ नुक्कड़ के टी स्टॉल्स पर फ्री काढ़ा वितरित किया गया। और उनको काढ़ा बनाने के लिए प्रोत्साहित किया गया। यहां पर काढ़ा पीने आने वालों को मास्क भी वितरित किए गए। साथ ही आपको पहनने का सही तरीका भी बताया गया। लोगों से पूछा गया कि उन्होंने वैक्सीन लगवाई या नहीं लगवाई । जिन्होंने पहली डोज लगवा ली हैं उन्हें समय से दूसरी डोज लेने की सलाह दी गई।

पंकज प्रसून ने बताया कि सितंबर में कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना है ऐसे में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए लोगों को काढ़ा को अपने दिनचर्या में शामिल करना होगा। उन्होंने ग्राम वासियों को काढ़े के फायदे बताते दोहे लिखे हैं।

‘आयुष काढ़ा हर सुबह पीना रोज ज़रूर/प्रतिरोधक क्षमता बढ़े, भागे कोविड दूर’।
अदरक गुड़, दालचिनी, तुलसी मिरच, लवंग/इनका काढ़ा पीजिए, कोविड हारे जंग।।

पंकज प्रसून ने बताया कि कोविड केयर एंड हेल्प सेन्टर्स पर विश्वास ट्रस्ट द्वारा कोविड केयर किट का वितरण जारी है। अब तक 120 से ज्यादा लोगो को किट्स दी जा चुकी है। तीसरी लहर से बचाने के लिए गांवों में 10 ऑक्सीजन बेड बनाये जा चुके हैं।

About Samar Saleel

Check Also

महिला कर्मचारी से हुई अभद्रता को लेकर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें सतांव/रायबरेली। बुधवार की शाम सतांव ब्लाक कार्यालय परिसर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *