Breaking News

इजरायल पर हुआ अटैक, एक के बाद एक दागी चार मिसाइलें

इजरायल में बेंजामिन नेतन्याहू ने एक बार फिर आम चुनाव में जीत हासिल की है। उनकी जीत के कुछ देर बाद ही गाजा पट्टी से एक के बाद एक चार मिसाइलें दागी गई। हालांकि जानकारी यह भी सामने आ रही है कि हमले में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है।

रिपोर्ट है कि पहले एक मिसाइल दागी गई। फिर एक घंटे के अंतराल के बाद गाजा पट्टी से तीन मिसाइलें छोड़ी गई। सूत्रों का मानना है कि हमला फिलिस्तीनी जिहादियों द्वारा किया गया है। हालांकि अभी रॉकेट हमले की किसी ने भी जिम्मेदारी नहीं ली है।

इजरायल सुरक्षा बलों का कहना है कि एक रॉकेट को आयरन डोम वायु रक्षा प्रणाली ने रोक दिया। इजराइली सैनिकों ने कहा कि वे आयरन डोम प्रणाली के बारे में स्पष्ट नहीं थे, हालांकि बाद में अपने बयान की पुष्टि की।

इससे पहले, वेस्ट बैंक शहर जेनिन में एक इजरायली सैन्य अभियान के दौरान फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद का एक सदस्य मारा गया था। आईडीएफ और सीमा पुलिस ने एक संयुक्त बयान में कहा कि अभियान में मारा गया जिहादी फारूक सलामेह इस साल की शुरुआत में एक अनुभवी पुलिस कमांडो की हत्या में शामिल था और आगे के हमलों की योजना बना रहा था।

सेना का यह बयान नेतन्याहू और उनके सहयोगियों द्वारा इजरायल में सरकार बनाने के बाद आया है। इससे पहले नेतन्याहू ने मंगलवार को यरुशलम में एक रैली के दौरान अपने समर्थकों से कहा, “विश्वास है कि हमारी ही जीत होगी। हम एक बहुत बड़ी जीत हासिल करने वाले हैं।”

उधर, इस्राइल के कार्यवाहक प्रधानमंत्री यायर लापिड ने भी पूर्व पीएम नेतन्याहू को बधाई दी। लैपिड ने नेतन्याहू से कहा, उन्होंने प्रधान मंत्री कार्यालय के सभी विभागों को एक व्यवस्थित सत्ता हस्तांतरण की तैयारी करने का निर्देश दिया है। टाइम्स ऑफ इजराइल के अनुसार, यायर लैपिड ने कहा, “इज़राइल किसी भी राजनीतिक विचार से ऊपर है। मैं इजराइल और देश लोगों के लिए नेतन्याहू को शुभकामनाएं देता हूं।”

इजरायल ने 2019 के बाद से अभूतपूर्व पांचवें चुनाव का नेतृत्व किया है। केंद्रीय चुनाव समिति द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, 6.7 मिलियन से अधिक योग्य मतदाताओं ने 12,495 मतपत्रों की मदद से वोटिंग की।

इजराइल के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले नेता नेतन्याहू ने एक बार फिर देश की सत्ता में वापसी की है। जून 2021 में मौजूदा पीएम यायर लापिड के नेतृत्व वाले क्रॉस-पार्टिसन गठबंधन द्वारा बाहर किए जाने से पहले नेतन्याहू ने लगातार 12 वर्षों तक प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया था।

मिसाइल अटैक के बाद सुरक्षा बलों ने रॉकेट सायरन से गाजा सीमा के पास किसुफिम, ऐन हाशलोशा और निरीम शहरों को अलर्ट किया। रॉकेट हमले के बाद अब तक किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। सेना ने कहा कि पहले एक मिसाइल फायर की गई। फिर लगभग एक घंटे बाद, दक्षिणी इजराइल में गाजा से तीन और रॉकेट दागे गए।

 

About News Room lko

Check Also

मन बहलाने के लिए तानाशाह नाबालिग लड़कियों के साथ…बना रखा ये खास ग्रुप

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें उत्तरी कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन को ...