Breaking News

गाजीपुर गोलीकांड या खेल?

लखनऊ। बीती रात गाजीपुर थाना क्षेत्र में हाईकोर्ट के गेट नम्बर पांच के पास गोली कांड की घटना में नया पेंच सामने आ रहा है। गोलीकाण्ड की घटना में घायल रियल स्टेट कारोबारी ग़ुलाम नबी बिल्डर नहीं बल्कि ब्रोकर का काम करता है। सूत्रों की माने तो एक बिल्डर को फंसाने के लिए वह इस तरह की झूठे हमलों की कहानी गढ़कर मुकदमा लिखवाता रहता है।
बिल्डर से पैसे ऐंठने के लिए हर बार खुद पर करवा लेता है हमला
गुलाम नबी खुद ही झूठे मुकदमे लिखवाता है और बाद में जांच के दौरान खुद को फंसता देख मुकदमा वापस ले लेता है। इसके पूर्व लगभग 4 माह पहले ग़ाज़ीपुर थाने में पहले पार्टनर रहे बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बाद में खुद को फंसता देख मुकदमा वापस ले लिया था। हज़रतगंज थाने में भी कई बार उसी बिल्डर पर झूठा मुकदमा लिखवाने का प्रयास किया था, लेकिन जब उसमें सफल नहीं हुआ तो गाजीपुर थानाक्षेत्र में शुक्रवार की रात खुद पर एक और हमला दिखाते हुए अपने पूर्व पार्टनर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया।
बड़ा सवाल!
हजरतगंज के अपार्टमेंट में हुए हमले से लेकर पहले भी कई बार अलग-अलग थानो में बकौल गुलाम नबी उसका पूर्व पार्टनर बिल्डर हमले करवा चुका है। लेकिन हर बार गुलाम नबी को कोई भी गंभीर चोट नहीं आई। हर बार की तरह इस बार भी घटना संदेहास्पद बताई जा रही है।
पुलिस मान रही घटना को संदेहास्पद
सूत्रों की माने तो नबी को अपने साथियो से लिया गया रुपया न लौटाना पड़े इसलिए वह उनके खिलाफ झूठे मुकदमें दर्ज करवाने का खेल खेलता है। बहरहाल यह जांच का विषय है कि क्या वाकई गुलाम नबी को अपने पूर्व पार्टनरों से जान का खतरा है या उसे पार्टनरों से लिए गए रुपये वापस ना करना पड़े उसके लिए झूठे मुकदमे लिखवाने का कूटनीतिक षड्यंत्र रचा जा रहा है। फिलहाल पुलिस घटना के बाद आस-पाास से मिले CCTV फुटेज के आधार पर आरोपियों को तलाशने में जुट गई है।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

मनचले की वजह से छात्रा ने कोंचिग जाना छोड़ा

मैनपुरी। कोतवाली क्षेत्र के एक मोहल्ले में मनचले की हरकत से परेशान छात्रा ने कोचिंग ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *