Breaking News

डब्ल्यूएचओ की सलाह: एचआईवी संक्रमित अवश्य करायें कोविड टीकाकरण

गया। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिलाभर में कोविड टीकाकरण अभियान चलाया गया है। अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा 18 साल की उम्र से अधिक सभी लोगों जिनमें बुजुर्ग, युवा, गर्भवती महिलाएं शामिल हैं, आदि को टीकाकृत किया गया है। साथ ही डायबिटीज व उच्च रक्तचाप जैसी गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों का भी टीकाकरण किया गया है।।

  • सामान्य की तुलना में एचआईवी संक्रमितों में कोविड की संभावना 30 % अधिक।
  • कोविड टीकाकरण सुरक्षित, कोविड अनुरूप व्यवहार का जरूर करें पालन।

वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गंभीर बीमारियों में शामिल एचआईवी संक्रमण से ग्रसित लोगों को भी आवश्यक रूप से टीकाकरण कराने के लिए कहा है। विशेषकर ऐसे लोगों को टीकाकरण जरूर किया जाना चाहिए जो एंटीरिट्रोवायरल्स दवाइयां नहीं ले रहे हैं। संगठन ने प्राथमिकता के आधार पर ऐसे लोगों को चिह्नित कर टीकाकरण की सलाह दी है।

एचआईवी संक्रमित करायें कोविड टीकाकरण: डब्ल्यूएचओ (विश्व स्वास्थ्य संगठन) ने कहा है एचआईवी संक्रमितों को कोविड का टीका जरूर लेना चाहिए। कोविड टीकाकरण पर हुए अध्यनन में एचआईवी संक्रमितों को भी शामिल किया गया और इस बात की पुष्टि की गयी कि कोविड टीकाकरण उनके लिए सुरक्षित है। संगठन के मुताबिक एचआईवी संक्रमितों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अधिक कमजोर होती है। और ऐसे में दूसरी गंभीर बीमारियों के हमले होने की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे लोगों को संक्रमण से होने वाले रोगों का जोखिम अधिक होता है। ऐसे लोगों के उम्र, स्वास्थ्य, पेशा व अन्य कारकों को ध्यान में रख उन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोविड टीकाकरण कराने की सलाह दी गयी है।

कोविड संक्रमण की गंभीरता 30 फीसदी अधिक: क्लीनिकल सर्विलांस डाटा से प्राप्त जानकारी के अनुसार एचआईवी से पीड़ित वे लोग जिन्हें कोविड संक्रमण हुआ उनमें से एक तिहाई की मृत्यु हो गयी। एचआईवी संक्रमितों में कोविड संक्रमण की गंभीरता उन लोगों की तुलना में 30 प्रतिशत अधिक देखी गयी जो एचआईवी संक्रमित नहीं थे। डायबिटीज और उच्च रक्तचाप एचआईवी संक्रमितों में सामान्य है। ये सभी कोविड संक्रमण को और अधिक गंभीर बनाते हैं। इसलिए डब्ल्यूएचओ ने एचआईवी संक्रमितों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किये जाने की सलाह दी है। इनमें ऐसे संक्रमित जो दूसरी गंभीर बीमारियों जैसे डायबिटीज, सांस व फेफड़ों की गंभीर समस्या जैसे ट्यूबरक्लोसिस, मोटापा, उच्च रक्तचाप, किडनी व लीवर की बीमारियों, पार्रिकिंसंस, तंत्रिका तंत्र संबंधित रोग आदि से ग्रसित हैं उन्हें और भी अधिक प्राथमिकता के साथ टीकाकरण कराने की सलाह दी गयी है।

कोविड अनुरूप व्यवहार का जरूर करें पालन: एचआईवी संक्रमित लोग कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन आवश्यक रूप से करें। कोविड अनुरूप व्यवहार में मास्क का नियमित इस्तेमाल, हाथों की समय समय पर साबुन पानी से धुलाई या सैनिटाइजर का इस्तेमाल, गंदे हाथों से चेहरा व नाक आंख को नहीं छूना, भीड़ वाले स्थानों पर नहीं जाना और शारीरिक दूरी जैसे नियमों का पालन अवश्य करें।

About Samar Saleel

Check Also

यादें संजोने के लिए जा रहे थे… एक झपकी ने ले ली 13 की जान; दिल दहलाने वाली तस्वीरें

रुद्रप्रयाग:  उत्तराखंड में आज हुए दर्दनाक हादसे ने 13 लोगों की जान छीन ली। जबकि ...