20 हजार शरणार्थीयों को यूरोपीय संघ में धकेलने की कोशिश में लगा बेलारूस, ये हैं पूरा मामला

बेलारूस और पोलैंड की सीमा पर हजारों शरणार्थी व प्रवासी और हथियारबंद सैनिक इस समय आमने-सामने हैं। बेलारूस से यह प्रवासी पोलैंड के जरिए यूरोपीय संघ में घुसना चाहते हैं।

रूस ने परमाणु हमले में सक्षम युद्ध विमान भेजे हैं और सीमा के पास पैराट्र्रूपर्स उतारकर बेलारूसी सेना के साथ युद्धाभ्यास शुरू कर दिया है। दूसरी तरफ पोलैंड की मदद के लिए यूरोपीय संघ और ब्रिटेन ने भी सैनिक भेजे हैं।

पोलैंड के रक्षामंत्री मारियूज ब्लासजेजक ने बताया कि उन्होंने 15000 सैनिक सीमा पर लगा रखे हैं। ब्रिटिश सेना के इंजीनियर भी तैनात हो चुके हैं। ईयू ने बेलारूस से घुसपैठ को पागलपन बताया और कहा कि निर्दोष नागरिकों का हथियार की तरह उपयोग किया जा रहा है। रूसी हमले की चेतावनी के बाद यूक्रेन ने भी 8,500 सैनिक सीमा पर लगाए हैं।

20 हजार तक प्रवासी बेलारूस से पोलैंड, लिथुआनिया और लातविया में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। वे बर्फीली सर्दी में कंटीले तारों के सामने बेहद छोटे टेंट या खुले में रुके हैं। रूस यहां की सरकार को वित्तीय व राजनीतिक सहयोग दे रहा है।

About News Room lko

Check Also

लोक लेखा समिति के सौ वर्ष

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें संसदीय व्यवस्था के संचालन में समितियों का विशेष ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *