जिरुहलिया हत्याकांड: 31 अगस्त को जिला अदालत सुनाएगी फैसला

औरैया। जनपद के जिरुहलिया हत्याकांड पर जिला न्यायालय 31अगस्त को अपना फैसला सुनाएगी। मालूम हो कि पिछले लगभग साढ़े 4 वर्ष पूर्व प्रधानी के चुनाव में सचिव व प्रधान पति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के मामले में पक्षकार सुप्रीम कोर्ट तक गए थे और कई आदेश भी लाए किंतु अपर जिला सत्र न्यायाधीश महेश चंद्र बर्मा के न्यायालय में 19 अगस्त को इस मामले की सुनवाई पूरी कर ली गई है और 31 अगस्त को किस का निर्णय सुनाया जाएगा।

सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता सी. बी. तिवारी व अधिवक्ता शिवम शर्मा ने शनिवार को बताया कि शहर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम जिरुहलिया में 15 फरवरी 2016 को प्रधान पति राजवीर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। यह मामला इसलिए अहम हो गया कि दोनों पक्षकारों द्वारा इस मामले को उच्च न्यायालय व उच्चतम न्यायालय तक ले जाया गया और कई आदेश भी प्राप्त किए गए। जिसके बाद उच्च न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई दिन-प्रतिदिन करने के अधीनस्थ कोर्ट को निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि यह मुकदमा उस समय और चर्चा में आया जब दिबियापुर से औरैया कचहरी आ रहे न्यायाधीश की कार का शीशा टूटने पर उक्त मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश ने इस मामले के पीछे जिरुहलिया हत्याकांड के मुकदमे से संबंध की लिखित शंका व्यक्त की, जिस पर यह मामला अपर एवं जिला सत्र न्यायाधीश महेश चंद्र वर्मा के न्यायालय को ट्रांसफर कर दिया गया।

Loading...

बताया कि 19 अगस्त को बचाव पक्ष के वरिष्ठ अधिवक्ता संजय कुमार शुक्ला, हृदय नारायण पांडे, देवेंद्र त्रिपाठी व डीडी मिश्रा ने बहस पूरी की। इस पर एडीजे महेश चंद्र वर्मा ने निर्णय की तिथि 31 अगस्त निर्धारित कर पुलिस अधीक्षक औरैया को सभी अभियुक्तों को व्यक्तिगत रुप से उपस्थित कराने वह पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कराने का पत्र भेजा है। ज्ञातव्य हो कि उक्त मामला साढे 4 वर्ष में कई न्यायालयों में ट्रांसफर होने के बाद फैसले पर आया है।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंगर

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

आत्मनिर्भर भारत में यूपी का योगदान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित आत्मनिर्भर भारत अभियान ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *