Breaking News

धार्मिक कार्यक्रम के दौरान हुआ बड़ा हादसा, आठ लोगों की मौत

बिहार:  वैशाली जिले में एक तेज रफ्तार ट्रक के अनियंत्रित होकर एक शोभायात्रा (धार्मिक कार्यक्रम) में घुस जाने से आठ लोगों की मौत मामले में पुलिस ने आरोपी चालक को रविवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। वैशाली के पुलिस अधीक्षक (एसपी) मनीष कुमार ने बताया, “देसरी थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव के पास हुए इस हादसे में कुल आठ लोग मारे गए हैं, जिनमें से अधिकतर नाबालिग हैं। हादसे में सात लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं और उन्हें पटना स्थित नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल और पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।” मनीष कुमार ने कहा कि #लापरवाही से गाड़ी चलाने वाले चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसका पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज हो रहा है। पुलिस चालक की शिनाख्त का प्रयास कर रही है।

मृतकों की पहचान वर्षा, सुरुचि, अनुष्का, शिवानी, खुशी, चंदन कुमार, कोमल कुमारी और सतीश कुमार के रूप में हुई है। हम आपको बता दें कि यह हादसा राजधानी पटना से लगभग 30 किलोमीटर दूर उत्तर बिहार जिले के देसरी थाना क्षेत्र में रविवार रात नौ बजे के आसपास हुआ था, जब जुलूस स्थानीय देवता भूमिया बाबा की पूजा के लिए सड़क के किनारे एक पीपल के पेड़ के सामने इकट्ठा हुआ था। हादसे के तुरंत बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक मुकेश रौशन वहां पहुंचे और दावा किया कि कम से कम नौ लोगों की मौके पर ही मौत हो गई है। मुकेश रौशन महुआ विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। घटनास्थल इसी क्षेत्र के अंतर्गत आता है।

जिनमें से तीन ने रास्ते में दम तोड़ दिया। जिन घायलों की हालत गंभीर है, उन्हें पटना के अस्पतालों में रेफर किया जा रहा है।” इस बीच, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने #हादसे में हुई मौतों पर दुख जताया है। राष्ट्रपति ने मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। वहीं, प्रधानमंत्री ने हादसे पर दुख जताया और प्रत्येक मृतक के परिजनों को दो लाख रुपये और प्रत्येक घायल को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, “बिहार के वैशाली जिले में हुई दुर्घटना दुखद है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना। घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।”

उधर, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी हादसे पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया कि जो लोग घायल हुए हैं, उनका उचित इलाज सुनिश्चित किया जाए और प्रत्येक मृतक के परिजनों को नियमों के अनुसार अनुग्रह राशि दी जाए। सुल्तानपुर गांव के रहने वाले एक व्यक्ति के घर पर शादी थी और जुलूस शादियों से जुड़ी एक रस्म के तहत निकाला गया था, तभी महनार-हाजीपुर हाईवे पर तेज गति से आ रहे एक ट्रक के चालक ने वाहन पर नियंत्रण खो दिया और जुलूस में शामिल लोगों को कुचल दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, हादसे से इलाके में अफरा-तफरी मच गई और कई ग्रामीणों ने गुस्से में नारेबाजी करते हुए आरोप लगाया कि पुलिस काफी देर से पहुंची।

About News desk

Check Also

छुप छुप कर मिलने वाले प्रेमी युगल को ग्रामीणों ने पकड़ा, करवाई शादी

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें रायबरेली। आम के बाग में चोरी छिपे मिल ...