Breaking News

Ompal : आरएसएस राष्ट्र एवं जनजागरण का प्रणेता

रायबरेली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रांत के 20 दिन से चले आ रहे संघशिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष का समापन हो गया है। संघ के प्रशिक्षण कार्यक्रम मे अवध प्रांत के 13 जिलो के 363 स्वयंसेवको ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है। मुख्य वक्ता के रूप मे राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अखिल भारतीय सह संगठन मंत्री Ompal ओमपाल ने स्वयंसेवकों को सम्बोधत किया।

Ompal : आरएसएस हिन्दुस्तान के हर नागरिक को भारतीय मानता है

गोपाल सरस्वती विद्या मन्दिर इंटर कालेज मे आयोजित समापन समारोह के मुख्य वक्ता के रूप मे बोलते हुये राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के अखिल भारतीय सह संगठन मंत्री Ompal ओमपाल ने आरएसएस की विचारधारा पर बोलते हुये संगठन को राष्ट्र जागरण एवं जन जागरण का प्रणेता बताया।

उन्होने आरएसएस की स्थापना से लेकर अब तक संघ के गठन और उसकी गतिविधियो के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। मुख्य वक्ता ने कहा कि आरएसएस हिन्दुस्तान के हर नागरिक को भारतीय मानता है। उसी भारतीय समाज मे एकरूपता लाने के लिये आरएसएस निरंतर शाखाओ के माध्यम से कार्य कर रहा है। उन्होने भारत को हिन्दु राष्ट्र मानते हुये आरएसएस को इस राष्ट्र का वैश्विक शंखनाद बताया।

उन्होने कहा कि सतयुग में जो कार्य राजा हरिश्चंद्र ने किया था,त्रेता मे जो कार्य भगवान राम ने किया था और द्वापर में जो गाथा भगवान कृष्ण ने लिखी थी, उसी परिपाटी और उन्ही महापुरूषो के पदचिन्हो पर चलकर आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राष्ट्र निर्माण के कार्य मे लगा हुआ है।

संघ हिन्दु समाज को संगठित करने के साथ साथ स्वयंसेवको मे ज्वलंत देशभक्ति जगाने का भी कार्य कर रहा है। संघ शिक्षा वर्गो के माध्यम से कार्यकर्ताओ को हर विधा मे निपुण किया जाता है। प्रशिक्षण के माध्यम से संस्कारित स्वयंसेवक स्वयं को तपाकर नवभारत की कल्पना को साकार करते है।

1925 मे संगठन का कार्य प्रारम्भ

सन् 1925 मे संघ के संस्थापक डा0 हेडगेवार ने जब संगठन का कार्य प्रारम्भ किया था तो उनके साथ मात्र पांच स्वयंसेवक थे। लेकिन भारत माता के प्रति समर्पित रहने वाले डा0 हेडगेवार की कार्यशैली से संगठन विस्तार लेता गया और आज भारत ही नही विश्व के 40 देशों मे आरएसएस विभिन्न रूपो मे हिन्दु जन जागरण का कार्य कर रहा है।

Loading...

समारोह की अध्यक्षता कर रहे अन्तर्राष्ट्रीय बौद्ध शोध संस्थान के अध्यक्ष भदंत शांति मित्र ने कहा कि वे संघ की राष्ट्रभक्ति की भावना से प्रभावित हुये है। संघ की परिपाटी पर चलकर ही महात्मा बुद्ध के सपनो को साकार किया जा सकेगा। आज समाज कुर्सी के लिये झगड रहा है। अच्छे कार्य करने वाले संगठन को आज राष्ट्र की जरूरत है।

इसके पूर्व ध्वज अवतरण व प्रार्थना के साथ समारोह प्रारम्भ हुआ। वर्गाधिकारी राम कुमार राय ने मंचासीन अधिकारियो का परिचय कराया। समापन समारोह के मंच पर प्रांत संघचालक प्रभु नारायण श्रीवास्तव, वर्गाधिकारी डा0 अशोक दुबे, अध्यक्षता कर रहे भदंत शांतिमित्र और मुख्य वक्ता के रूप मे ओमपाल आसीन रहे।

शारीरिक व्यायाम का शानदार प्रदर्शन

समापन समारोह मे स्वागत प्रणाम व ध्वजारोहण के बाद शारीरिक व्यायाम का प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम मे वर्ग मे प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे स्वयंसेवको ने घोस वादन, पदविन्यास, दंड युद्ध, नियुद्ध, दंड प्रहार, खेल, सूर्य नमस्कार, योगासन आदि का शानदार प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर जिलाधिकारी संजय खत्री, एसपी सुजाता सिंह सहित संघ के विभाग संघचालक अमरेश बहादुर, संजय सिंह, शिवाकांत, विभाग प्रचारक राज किशोर, एमएलसी दिनेश सिंह, विधायक दल बहादुर कोरी, राम नरेश रावत, जिलाध्यक्ष भाजपा दिलीप यादव, पूर्व मंत्री गिरीश नारायण पाण्डेय, सुशील शुक्ला और आरएसएस के सतीश त्रिवेदी, गणेश बाजपेयी, आशीष बाजपेयी, दीप प्रकाश शुक्ला, शिवम गुप्ता, चंद्रशेखर सिंह, रविनन्दन सिंह चौहान, बच्चा पांडे आदि हजारो स्वयंसेवक मौजूद रहे।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

बाबा साहब ने सभी वर्गो को अवसर देकर राष्ट्र की मुख्यधारा में स्थापित करने का सशक्त प्रयास किया : डाॅ. मसूद अहमद

लखनऊ। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश कार्यालय पर आज भारत रत्न बाबा साहेब डाॅ. भीमराव अम्बेडकर ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *